एडवांस्ड सर्च

विश्व हिन्दू परिषद की अपील: अयोध्या पर फैसले के बाद जोश को होश में रखें

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले विश्व हिंदू परिषद ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि अयोध्या मामले पर फैसले के बाद लोग जोश को होश में रखे. उन्होंने कहा कि देश में वैमनस्य नहीं बढ़ना चाहिए, निर्णय अनुकूल आए तो प्रसन्नता होगी.

Advertisement
aajtak.in
हिमांशु मिश्रा नई दिल्ली, 08 November 2019
विश्व हिन्दू परिषद की अपील: अयोध्या पर फैसले के बाद जोश को होश में रखें विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार (फाइल फोटो)

  • अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट जल्द सुनाने वाला है फैसला
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के रिटायर होने से पहले आएगा फैसला

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की जा रही है. इसी कड़ी में विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने लोगों से फैसला आने के बाद जोश को होश में रखने की बात कही है. उन्होंने कहा कि देश में वैमनस्य नहीं बढ़ना चाहिए. अयोध्या मामले में निर्णय अनुकूल आए, तो प्रसन्नता होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति पर रोक नहीं है. घर में रोशनी लाएं और मंदिर जाएं.

विश्व हिंदू परिषद के नेता ने कहा, 'ये फैसला मर्यादा पुरुषोत्तम राम के मंदिर का है. इसलिए इसे मर्यादा में रहते हुए आनंद में मनाया जाए. किसी समुदाय के स्थान पर जाना, नारे लगाना, कोई हारा है यह कहना, ऐसा कुछ भी नहीं होना चाहिए.' आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के रिटायर होने से पहले यह फैसला सुनाया जाएगा.

आलोक कुमार ने कहा, 'अयोध्या मामले पर फैसला आने के बाद हमारे जोश में होश रहना चाहिए. इसे किसी की जीत और किसी की हार के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. जहां हिंदू कम संख्या में हैं, वहां सतर्कता बरतनी चाहिए. हमें उम्मीद है कि फैसला हमारे पक्ष में आएगा. इसलिए आगे की किसी भी रणनीति के बारे में विचार नहीं किया गया है.'

इससे पहले अयोध्या मामले पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य और मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद राशिद फरंगी महली ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला हो, सभी नागरिकों को उसका सम्मान करना चाहिए. साथ ही सोशल मीडिया पर अयोध्या मामले से जुड़ी कोई अफवाह नहीं फैलाई जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की आपत्तिजनक पोस्ट डालने से आपसी भाईचारा बिगड़ सकता है. इसके अलावा अयोध्या मामले में फैसले से पहले देश के कई हिस्सों में प्रशासन ने ऐहतियातन सुरक्षा के इंतजाम किए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay