एडवांस्ड सर्च

उत्तर प्रदेश कैबिनेट में वापसी कर सकते हैं राजा भैया

लोकसभा चुनावों को देखते हुए सरकार की छवि को सुधारनें के लिए समाजवादी पार्टी का ऑपरेशन क्लीन कुछ ही दिनों में शुरू हो जाएगा. इस ऑपरेशन में कैबिनेट मंत्रियों के विभागों में बदलाव, महत्वपूर्ण पदों पर तैनात आईएएस अधिकारियों को हटाना और लापरवाह अफसरों पर गाज गिराना शामिल है.

Advertisement
aajtak.in
अनूप श्रीवास्‍तव/ [Edited By: बबिता पंत]लखनऊ, 17 July 2013
उत्तर प्रदेश कैबिनेट में वापसी कर सकते हैं राजा भैया राजा भैया

लोकसभा चुनावों को देखते हुए सरकार की छवि को सुधारनें के लिए समाजवादी पार्टी का ऑपरेशन क्लीन कुछ ही दिनों में शुरू हो जाएगा. इस ऑपरेशन में कैबिनेट मंत्रियों के विभागों में बदलाव, महत्वपूर्ण पदों पर तैनात आईएएस अधिकारियों को हटाना और लापरवाह अफसरों पर गाज गिराना शामिल है. खबर है कि सीओ मर्डर केस में राजा भइया को क्लीन चिट मिलने के बाद ठाकुरों में संदेश देने के लिए मंत्रिमंडल में उनकी वापसी भी हो सकती है.

समाजवादी पार्टी नें सोमवार को ही अपने कई प्रकोष्ठ जैसे समाजवादी ब्राहमण सभा, समाजवादी बौद्धिक सभा और समाजवादी विकलांग सभा को बिना कारण बताए भंग कर दिया है. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को राज्यपाल बीएल जोशी से मुलाकात भी की. इसके बाद से बदलाव की चर्चा तेज हो गई है. दरअसल, पार्टी के सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का मानना है कि यूपी में समाजवादी पार्टी अगर लोकसभा चुनाव में 60 सीटे ले आती है तो केंद्र की अगली सरकार में उसकी भूमिका बेहद महत्वपूर्ण होगी.

प्रधानमंत्री की कुर्सी खुद मुलायम सिंह यादव का सपना है, मगर अखिलेश सरकार की छवि सुधरने का नाम भी नहीं ले रही है और ये बात नेता जी को परेशान कर रही है. माना जा रहा है इसी वजह से पार्टी ने ऑपरेशन क्लीन शुरू कर दिया है.

मुलायम सिंह यादव नें समाजवादी पार्टी के लोकसभा उम्मीदवारों, विधायकों और पदाधिकारियों से बुधवार को पार्टी ऑफिस में मीटिंग भी की है. वहीं, अखिलेश और राज्यपाल की मुलाकात के बाद यह माना जा रहा है कि मंत्रिमंडल में भी बदलाव तय है. सूत्रो के मुताबिक तीन कैबिनेट मंत्रियों के विभाग या तो बदले जाएंगे या फिर उन्‍हें बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. इसमें एक के खिलाफ कई शिकायतें हैं.

इसके आलावा मंत्रिमंडल में शामिल दो राज्यमंत्रियों का दर्जा बढ़ाया जा सकता हैं. वहीं, मुख्यमंत्री सचिवालय में भी तैनात अफसरों को हटा कर अपनी पंसद के अफसरों को लाने की बात चल रही है. लापरवाह अफसरों के खिलाफ कारवाई भी होगी.

मंगलवार देर रात गाजियाबाद, आगरा और सहारनपुर के एसपी का तबादल कर दिया गया. खुद मुख्यमंत्री का कहना है कि बदलाव से फायदा भी होता है. सीओ मर्डर केस में राजा भइया को क्लीन चिट मिलने के बाद ठाकुरों में संदेश देने के लिए मंत्रिमंडल में उनकी वापसी भी हो सकती है.

जाहिर है डेढ़ साल से हमले झेल रही है यूपी की सरकार ने 2014 के आम चुनाव को ध्यान में रखते हुये क्लीन स्वीप शुरू कर दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay