एडवांस्ड सर्च

फ्रांसीसी विमान में सवार हुए राजनाथ सिंह, राफेल रिसीव करने हुए रवाना

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राफेल विमान को रिसीव करने के लिए पेरिस में हैं, जहां वह इसे रिसीव करने से पहले इसकी शस्त्र पूजा करेंगे. राफेल विमान में उड़ान भी भरेंगे और इसी के साथ ही वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in पेरिस, 08 October 2019
फ्रांसीसी विमान में सवार हुए राजनाथ सिंह, राफेल रिसीव करने हुए रवाना राफेल में उड़ान भरेंगे राजनाथ सिंह

  • भारत को आज मिलेगा राफेल विमान
  • राजनाथ सिंह फ्रांस में भरेंगे उड़ान
  • वायुसेना दिवस के दिन बड़ा तोहफा

हिंदुस्तान के लिए आज बड़ा दिन है, एक और देश में देश की शान वायुसेना का 87वां ‘वायुसेना दिवस’ मनाया जा रहा है तो दूसरी ओर फ्रांस में आज भारत को फ्रांसीसी लड़ाकू विमान ‘राफेल’ मिलने जा रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राफेल विमान को रिसीव करने के लिए पेरिस में हैं, जहां वह इसे रिसीव करने से पहले इसकी शस्त्र पूजा करेंगे. राफेल विमान में उड़ान भी भरेंगे और इसी के साथ ही वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पेरिस से मेरिगन्क के लिए फ्रांसीसी वायुसेना के विमान में रवाना हुए. जहां पर आधिकारिक कार्यक्रम में भारत को राफेल विमान सौंपा जाएगा. यहां राजनाथ सिंह पहले शस्त्र पूजा करेंगे और बाद में कार्यक्रम में शामिल होंगे. राजनाथ सिंह के साथ फ्रांसीसी सेना के कई अधिकारी भी मौजूद हैं.

राफेल विमान रिसीव करने से पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमनुएल मैक्रों से मुलाकात की. इसके बाद राजनाथ सिंह राफेल विमान को रिसीव करने के आधिकारिक कार्यक्रम में शामिल होंगे. एमनुएल मैक्रों और राजनाथ सिंह की ये बैठक करीब 35 मिनट तक चली.

राजनाथ सिंह ने इस दौरान फ्रांस के रक्षा मंत्री से भी मुलाकात की, इस दौरान इस लेवल की बातचीत में भारत की ओर से 8 लोग शामिल हुए.

delegation_100819022629.jpgफ्रांस में ये डेलिगेशन रिसीव करेगा राफेल

राफेल से राजनाथ की शस्त्र पूजा

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह दशहरे के अवसर पर मंगलवार को फ्रांस की राजधानी पेरिस में भारतीय परंपरा के अनुसार शस्त्र पूजा करेंगे. विधिवत शस्त्र पूजा के बाद रक्षामंत्री फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट से खरीदे गए लड़ाकू विमान राफेल का अधिग्रहण करेंगे और विमान में उड़ान भी भरेंगे. राफेल उन्नत प्रौद्योगिकी से लैस लड़ाकू विमान है. दसॉल्ट के साथ हुए सौदे की पहली खेप में भारत विजयादशमी के मौके पर 36 राफेल विमान हासिल करेगा.

भारत में शस्त्र पूजा की परंपरा अनादिकाल से चली आ रही है, इसी परंपरा का पालन करते हुए भारतीय सेना में भी विजयादशमी के दिन शस्त्र पूजा की जाती है.

राफेल विमान को लेकर आज का कार्यक्रम: (भारतीय समयानुसार)

शाम 5.30 बजे: मेरिगन्क में राफेल विमान में उड़ान और रिसीव करना

रात 10 बजे: पेरिस में फ्रांस के मंत्री से मुलाकात

भारत को मिलने वाले राफेल में क्या?

भारत को राफेल विमान मिलने के बाद वायुसेना की ताकत बढ़ेगी. जो विमान भारत को मिलने वाला है, उसका टेल नंबर RB-01 है. एयर मार्शल वीआर चौधरी की अगुवाई में एयरफोर्स ऑफिसर की टीम ने राफेल विमान को फ्रांस से रिसीव किया है.

इस विमान को RB-01 टेल नंबर एयरफोर्स चीफ एयर मार्शल RKS भदौरिया के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने फ्रांस से राफेल की डील करने में बड़ी भूमिका निभाई थी. वायुसेना को राफेल विमान तो आज मिल जाएगा, लेकिन ये विमान भारत में मई 2020 को पहुंचेगा. इस दौरान भारतीय वायुसेना के जवान वहां पर ट्रेनिंग में हिस्सा लेंगे.

इसे पढ़ें: वायुसेना दिवसः भारत के राफेल के आगे बौना है पाकिस्तानी F-16 फाइटर जेट

राफेल से कैसे बढ़ेगी वायुसेना की ताकत?

फ्रांस, मिस्र और कतर के बाद भारत चौथा देश होगा जिसके आकाश में राफेल विमान उड़ान भरेगा. फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल 4.5वीं पीढ़ी का विमान है जिसमें रडार से बच निकलने की ताकत है. इससे भारतीय वायुसेना में आमूलचूल बदलाव होगा क्योंकि वायुसेना के पास अब तक के विमान मिराज-2000 और सुखोई-30 एमकेआई या तो तीसरी पीढ़ी या चौथी पीढ़ी के विमान हैं.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay