एडवांस्ड सर्च

गुरमेहर विवाद: पर्रिकर बोले- कानून के दायरे में अभिव्यक्ति का सम्मान

बयानों के लिए अक्सर विवादों में रहने वाले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज पर निशाना साधा. उनका कहना था कि विज जैसे लोग शहीद को बेटी को देशभक्ति का सर्टिफिकेट नहीं दे सकते.

Advertisement
aajtak.in
संदीप कुमार सिंह नई दिल्ली, 02 March 2017
गुरमेहर विवाद: पर्रिकर बोले- कानून के दायरे में अभिव्यक्ति का सम्मान कानून के दायरे में अभिव्यक्ति का सम्मान: पर्रिकर

दिल्ली यूनिवर्सिटी में देशभक्ति पर दंगल छिड़ा है और नेता दो-दो हाथ करने से बाज नहीं आ रहे हैं. विवाद पर बयानबाजी का दौर जारी है. आज रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी कहा कि वो कानूनी दायरे में अभिव्यक्ति की आजादी का समर्थन करते हैं.

फोगाट बहनों के समर्थन में रिजिजू
हालांकि गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने इस मसले पर पर्रिकर से ज्यादा कड़ा रुख अपनाया है. गुरमेहर की मुहिम पर सवाल उठाने वाले रिजिजू ने ट्विटर पर फिर इस मुद्दे को उठाया. उन्होंने लिखा कि पूरे देश को गीता फोगाट और बबीता फोगाट की उपलब्धियों पर गर्व है.

दरअसल ये ट्वीट मशहूर शायर जावेद अख्तर के बयान पर प्रतिक्रिया थी. जब फोगाट बहनों ने पाकिस्तान के साथ जंग पर गुरमेहर कौर के बयान का विरोध किया था तो अख्तर ने कहा था कि फोगाट बहनें बमुश्किल पढ़ी-लिखी हैं.

दिग्गी की खरी-खरी
वहीं बयानों के लिए अक्सर विवादों में रहने वाले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज पर निशाना साधा. उनका कहना था कि विज जैसे लोग शहीद को बेटी को देशभक्ति का सर्टिफिकेट नहीं दे सकते.

विज ने कहा था कि गुरमेहर कौर का समर्थन करने वाले देशद्रोही हैं और उन्हें पाकिस्तान भेज देना चाहिए. गुरुवार को हरियाणा विधानसभा में इस बयान पर हंगामा हुआ. हालांकि विज का कहना है कि वो बयान पर कायम हैं.

समर्थन में उतरे कीर्ति आजाद
दूसरी ओर, बीजेपी के निलंबित नेता और दरभंगा से सांसद कीर्ति आजाद ने गुरमेहर कौर का समर्थन किया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि उनकी कोई बेटी होती तो वो चाहते कि वो गुरमेहर कौर जैसी हो. आजाद ने कौर को इम्तिहानों के लिए शुभकामनाएं भी दीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay