एडवांस्ड सर्च

मोदी सरकारः दूसरा कार्यकाल, पहला साल और खाते में कई उपलब्धियां

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले साल में कोरोना संकट ने अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया, अब पीएम मोदी की अपील पर देश की जनता अगर विदेशी उत्पादों की जगह लोकल उत्पादों का अधिक उपयोग करती है और इसके अच्छे परिणाम आते हैं तो यह मोदी सरकार 2.0 के पहले साल की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक गिनी जाएगी.

Advertisement
aajtak.in
हिमांशु मिश्रा नई दिल्ली, 30 May 2020
मोदी सरकारः दूसरा कार्यकाल, पहला साल और खाते में कई उपलब्धियां PM नरेंद्र मोदी (फाइल-PTI)

  • पहले साल में सरकार के नाम कई उपलब्धियां
  • इसी साल राम मंदिर निर्माण कार्य भी शुरू

नरेंद्र मोदी सरकार 2.0 आज शनिवार को अपना एक साल पूरा करने जा रही है. वैसे तो मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले साल में ही कई उपलब्धियां हासिल कर ली हैं.

मोदी सरकार के खाते में दूसरे कार्यकाल के पहले साल में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को समाप्त करना, तीन तलाक के खिलाफ कानून और नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) बनाना सबसे बड़ी उपलब्धि के रूप में दर्ज है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

सवा सौ गरीब कल्याण योजनाएं

पीएम मोदी के नेतृत्व में पहले पांच सालों में सरकार ने गरीब जनता की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए छोटी-बड़ी ग्रामीण क्षेत्रों और शहरी क्षेत्रों के लिए लगभग सवा सौ गरीब कल्याण योजनाओं को शुरू किया. जिसका सीधा फायदा ग्रामीण क्षेत्रों और शहरी क्षेत्रों में रहने वाली गरीब जनता को मिला.

इसे भी पढ़ें --- e-एजेंडा: मोदी 2.0 का पहला साल, आजतक पर जुटेंगे शीर्ष मंत्री और विपक्षी दिग्गज

प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार ने पहले पांच सालों में दो ऐसे मौके पर आतंकवाद के खिलाफ अपने इरादे स्पष्ट किए बल्कि आतंकवाद को मुंहतोड़ जवाब भी दिया. सितंबर 2016 उरी में हुए आतंकी हमले के बाद पीओके में आतंकियों पर सर्जिकल स्ट्राइक और फरवरी, 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक करके बड़ी संख्या में आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

संघ का सपना हुआ साकार

2019 के आम चुनाव में गरीब कल्याण योजनाओं, भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के साथ-साथ एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक भी बड़े मुद्दे बने. जनता ने एक बार फिर से पीएम मोदी पर भरोसा जताया और बीजेपी को 2019 के आम चुनाव में अकेले ही (पिछली बार से 22 सीटें ज़्यादा यानि 303 लोकसभा सीटों पर जीत) बहुमत मिल गया.

इसे भी पढ़ें --- मोदी सरकार 2.0: नायक के रूप में उभरे अमित शाह, मोदी के सबसे बड़े सिपहसालार

कई दशकों से अपनी विचारधारा के कोर मुद्दों को लेकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं और संघ के स्वयंसेवक जमीन पर लड़ाई लड़ रहे थे और सपना देखा करते थे कि जब केंद्र में हमारी पार्टी के पास पूर्ण बहुमत की सरकार होगी तो इन मुद्दों को संसद से पास कराकर हमारे सपने साकार करेगी .

पीएम मोदी के नेतृत्व में 2019 के आम चुनाव में इतनी बड़ी जीत के बाद मोदी सरकार 2.0 ने पहले साल में जम्मू-कश्मीर से धारा- 370 को समाप्त कर, जम्मू-कश्मीर और लेह-लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के कानून, ट्रिपल तलाक के खिलाफ कानून और नागरिकता संशोधन बिल को संसद के दोनों सदनों से पास कराकर उन पर कानून बनाकर बीजेपी कार्यकर्ताओं और संघ स्वयंसेवकों के दशकों पुराने सपने को साकार कर दिया.

राम मंदिर पर फैसला

मोदी सरकार 2.0 के पहले साल में 70 सालों से लंबित राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में भी सुप्रीम कोर्ट ने फैसला राम मंदिर के पक्ष में दिया. सबसे बड़ी बात यह रही कि राम मंदिर का निर्माण कार्य भी मोदी सरकार-2 पहले साल में ही शुरू हो गया है.

इसे भी पढ़ें --- अमेरिका ने किया WHO से हटने का ऐलान, ट्रंप बोले- संस्था पर चीन का कब्जा

अभी 2 बड़े मुद्दे बचे

अगर देखा जाये तो बीजेपी की विचारधारा से जुड़े दो प्रमुख मुद्दे एक समान आचार संहिता और दूसरा एनआरसी मोदी सरकार के एजेंडे में रह गए हैं, लेकिन जिस तरह से मोदी सरकार-2 एक के बाद एक विचारधारा से जुड़े मुद्दों को संसद से बहुमत के साथ पास कराकर कानून बना रही है. उससे स्पष्ट है कि समान आचार संहिता और एनआरसी मोदी सरकार-2 के कार्यकाल में कानून बन जाएंगे.

मोदी सरकार 2.0 ने पहले साल में देश में आर्थिक सुधार की दिशा में 10 सरकारी बैंकों का विलय कर चार बड़े बैंक बनाने का फैसला लेने के साथ, कई बड़े आर्थिक सुधार के कदम भी उठाए हैं.

अब लोकल के लिए वोकल का नारा

जब भारत ही नहीं पूरी दुनिया में COVID- 19 संक्रमण के कारण जो आर्थिक संकट की परिस्थिति उत्पन हुई है, उससे बेहाल है. तब पीएम मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए महात्मा गांधी और संघ के स्वदेशी अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखते हुए 'लोकल के लिए वोकल' का नारा दिया.

पीएम मोदी की अपील पर देश की जनता अगर विदेशी उत्पादों की जगह लोकल उत्पादों का अधिक उपयोग करती है तो अर्थव्यवस्था में इसके अच्छे परिणाम आने वाले सालों में देखने को मिलेंगे और यह मोदी सरकार 2.0 के पहले साल की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक गिनी जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay