एडवांस्ड सर्च

जुलाई के तीसरे या आखिरी हफ्ते से शुरू हो सकता है संसद का मॉनसून सत्र

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए 23 मार्च को लोकसभा की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था. जबकि संसद का बजट सत्र 3 अप्रैल तक चलना था, लेकिन समय से पहले कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया था.

Advertisement
aajtak.in
हिमांशु मिश्रा नई दिल्ली, 23 May 2020
जुलाई के तीसरे या आखिरी हफ्ते से शुरू हो सकता है संसद का मॉनसून सत्र संसद का मॉनसून सत्र समय पर

  • मॉनसून सत्र शेड्यूल के अनुसार ही
  • लोकसभा अध्यक्ष ने भी दिए थे संकेत

कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए देश में लगातार चौथी बार लॉकडाउन लगाया गया है. हालांकि अब रेल, विमान सहित कई क्षेत्रों में सरकार ढील दे रही है. दरअसल सरकार अब कोरोना वायरस को न्यू नॉर्मल मानते हुए काम-काज बढ़ाने की कोशिश कर रही है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या जुलाई महीने से शुरू होने वाला मॉनसून सत्र इस बार समय पर हो सकेगा?

सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि अगर कोरोना के हालात नियंत्रण में रहे तो मॉनसून सत्र अपने समय पर हो सकता है. यानी जुलाई के तीसरे या अंतिम सप्ताह में संसद के मॉनसून सत्र की बैठक हो सकती है.

कुछ दिन पहले लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी कहा था कि संसद का आगामी मॉनसून सत्र शेड्यूल के अनुसार ही आयोजित किया जाएगा. अब तक सत्र को स्थगित करने की कोई योजना नहीं है. आगे का जो भी निर्णय है वो तत्कालीन स्थिति के अनुसार ही लिया जाएगा.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए 23 मार्च को लोकसभा की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था. जबकि संसद का बजट सत्र 3 अप्रैल तक चलना था, लेकिन समय से पहले कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया था. लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने इसकी घोषणा की थी.

संसद का मॉनसून सत्र आमतौर पर जून के अंतिम सप्ताह या जुलाई के पहले सप्ताह में शुरू होता है. पिछले साल, संसद का मॉनसून सत्र 20 जून से 7 अगस्त के बीच चला था.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

पिछले महीने लोकसभा सचिवालय के सूत्रों ने बताया था कि एक प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. यदि मॉनसून सत्र के दौरान तक सोशल डिस्टेंसिंग की अनिवार्यता रही तो लोकसभा की कार्यवाही सेंट्रल हॉल से संचालित की जा सकती है जबकि राज्यसभा की कार्यवाही को स्थानांतरित कर लोकसभा में लाया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay