एडवांस्ड सर्च

इंटरनेशनल पैरा एथलीट को रेलवे ने दी अपर सीट, प्रभु ने दिए जांच के आदेश

प्रभु ने ट्वीट किया, 'इस मुद्दे पर जांच के आदेश दिए हैं. हम दिव्यांगों के लिए सुगम यात्रा सुनिश्चित करने के लिए गंभीर हैं.'

Advertisement
aajtak.in
नंदलाल शर्मा नई दिल्ली , 11 June 2017
इंटरनेशनल पैरा एथलीट को रेलवे ने दी अपर सीट, प्रभु ने दिए जांच के आदेश इंटरनेशनल पैरा एथलीट सुवर्णा राज

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रविवार को एक ट्रेन में पदक विजेता पैरा एथलीट सुवर्णा राज के साथ हुए कथित दुर्व्यवहार की जांच के आदेश दिए हैं. खबरों के अनुसार, 'व्हीलचेयर पर चलने वाली एथलीट को आग्रह के बावजूद नागपुर निजामुद्दीन गरीब रथ एक्सप्रेस में दिव्यांग अनुकूल सीट नहीं दी गई.

सुवर्णा को ऊपरी बर्थ दी गई थी जिसके कारण उन्हें शनिवार को दिव्यांग वाली सीट नहीं मिलने पर ट्रेन की जमीन पर सोना पड़ा. प्रभु ने ट्वीट किया, 'इस मुद्दे पर जांच के आदेश दिए हैं. हम दिव्यांगों के लिए सुगम यात्रा सुनिश्चित करने के लिए गंभीर हैं.'

इंटरनेशनल पैरा एथलीट सुवर्णा राज अब सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में काम करती हैं. रेलवे की लापरवाही पर राज ने कहा, 'मैं रेलमंत्री सुरेश प्रभु से मिलना चाहती हूं ताकि उन्हें बता सकूं कि ट्रेन में यात्रा के दौरान विकलांगों को कितनी परेशानी होती है.'

उन्होंने कहा कि टिकट बुकिंग के दौरान मैंने रेलवे अधिकारियों को बताया था कि मैं दिव्यांग हूं. रेलवे ने जीडी-2 में सीट दी, जोकि दिव्यांगों के आरक्षित थी. राज जब कोच में पहुंचीं तो उन्होंने देखा कि अलॉट की गई सीट ऊपर की थी.

छोटी उम्र में पोलियो के कारण सुवर्णा 90 प्रतिशत विकलांग हैं.

सुवर्णा ने 2014 में दक्षिण कोरिया में आयोजित एशियन पैरा गेम्स में हिस्सा लिया है. इसके साथ ही थाईलैंड पैरा टेबल टेनिस ओपन 2013 में सुवर्णा ने दो मेडल जीते.

दिव्यांग लोगों के लिए सुवर्णा एक संस्था भी चलाती हैं और मौजूदा समय में 'एक्सेसिबल इंडिया कैंपेन' पर काम कर रही हैं. यह अभियान सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की ओर से चलाया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay