एडवांस्ड सर्च

ISI की सीमा पर एक और साजिश, खरीदी 1 लाख राउंड स्नाइपर गोलियां!

पाकिस्तान स्नाइपिंग के जरिए भारतीय सुरक्षा बलों को अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी पर निशाना बनाने की कोशिश करती रहती है. इसके लिए खासतौर पर उसने अपने अलग-अलग बीओपी पर ट्रेंड स्नाइपर को तैनात किया हुआ है.

Advertisement
aajtak.in
जितेंद्र बहादुर सिंह नई दिल्ली, 13 December 2018
ISI की सीमा पर एक और साजिश, खरीदी 1 लाख राउंड स्नाइपर गोलियां! सीमा पार आतंकी गतिविधियों से त्रस्त रहा है कश्मीर (सांकेतिक तस्वीर-PTI)

पाकिस्तान लगातार भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल रहता है. उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा से सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए नई-नई योजनाएं बना रही है और इसके लिए पैसा भी जमकर खर्च कर रही है.

बोस्निया और बेल्जियम से खरीदी जा रही गोलियां!

खुफिया सूत्रों ने आजतक को जानकारी दी है कि आईएसआई और पाक आर्मी ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए खास तरीके की स्नाइपर गोलियां खरीदी हैं. यह गोलियां स्टील की बताई जा रही हैं. सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान को ऐसी गोलियां गुपचुप तरीके से मुहैया कराई जा रही हैं.

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान की इसी खरीदारी का k1 इंटरसेप्ट के जरिए खुलासा किया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई बोस्निया और बेल्जियम से करीब एक लाख राउंड स्नाइपर गोलियां खरीद रहा है जो कि खास तरीके से प्रशिक्षित आतंकवादियों और पाक आर्मी को मुहैया कराई जाएंगी.

खास तरीके के बुलेट प्रूफ

खुफिया सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तानी सेना 12.7×99 एमएम की स्टील बुलेट्स को सीमा पर अपने स्नाइपर को मुहैया करा रही है, जो करीब 1,800 मीटर दूर से अपने लक्ष्य को निशाना लगा सकते हैं. हालांकि, इन स्टील बुलेट से निपटने के लिए सुरक्षा बलों को खास तरीके के बुलेट प्रूफ जैकेट्स भी दिए जा रहे हैं जिससे इन स्टील बुलेट की घातक हामले के असर को कम किया जा सके.

आपको बता दें कि पाकिस्तान की सेना भारतीय सेना के जवानों को स्नाइपिंग के जरिए हताहत करने की कोशिश में लगी हुई है. 6 दिसंबर को पाकिस्तान की तरफ से उत्तरी कश्मीर में लाइन ऑफ कंट्रोल पर स्थित माछिल सेक्टर और जम्मू के सुंदरबनी इलाके में गोलीबारी की गई जिसमें जानकारी के मुताबिक पाक ने स्नाइपर शॉट दागे थे. इस हमले में 2 जवान भी शहीद हो गए थे.

निशाने पर सुरक्षा बल

सूत्रों ने आजतक को यह जानकारी भी दी है कि पाकिस्तान ने एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्नाइपर को भारी संख्या में तैनात कर रखा है जिन्हें यह जिम्मा दिया गया है कि वे चोरी छिपे सुरक्षा बलों को निशाना बनाए.

आजतक के पास ऐसी खुफिया जानकारी है कि पाकिस्तान स्नाइपिंग के जरिए सुरक्षा बलों को अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी पर निशाना बनाने की कोशिश करती रहती है. इसके लिए खासतौर पर उसने अपने अलग-अलग बीओपी पर ट्रेंड स्नाइपर को तैनात किया हुआ है.

खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पाक आर्मी और आईएसआई ने एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर करीब 200 से ज्यादा स्नाइपर्स को तैनात किए है. इन शॉर्प शूटर स्नाइपर के जरिये समय-समय पर भारतीय सुरक्षा बलों को निशाना बनाने की कोशिश पाकिस्तान करता रहता है.

सूत्रों के मुताबिक एलओसी के उस पार पाक अधिकृत कश्मीर में पाकिस्तान आर्मी ने माछिल (Machhal), उरी (Uri), तंगधार (Tangdhar), पुंछ (Poochh),बिम्बरगली (BimberGali),रामपुर (Rampur),कृष्णा घाटी (Krishna Ghati)और मेंढर के सामने अपने खूंखार स्नाइपर्स को तैनात किया हुआ है, जो भारतीय सुरक्षा बलों को निशाना बनाने की फिराक में हमेशा रहते हैं.

सूत्रों के मुताबिक इन स्नाइपर्स को पीओके में मौजूद ट्रेनिंग कैंप में पाक की स्पेशल ऑपरेशन टीम(एसएसजी) के साथ ट्रेंड किया गया है. जानकारी के मुताबिक स्नाइपर्स के तौर पर रेगुलर आर्मी पाकिस्तान की तो रहती ही है. इसके साथ ही आतंकी संगठन लश्कर जैश और हिज्बुल के आतंकियों को भी स्नाइपर्स के तौर पर भर्ती किया गया है.

खुफिया सूत्रों ने ये जानकारी दी है कि इन स्नाइपर्स को पाकिस्तान की मुजाहिद बटालियन के साथ कई जगहों पर तैनात किया. पाकिस्तान की आर्मी इन आतंकियों  स्नाइपर शूटिंग के बदले 50 हजार से एक लाख तक की रकम भी देता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay