एडवांस्ड सर्च

मायावती का PM मोदी पर प्रहार- 'सबका साथ, सबका विकास' नारा नाकाम

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रहार करते हुए कहा कि 'सबका साथ, सबका विकास' वाला नारा नाकाम हो गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार केवल उद्योगपतियों के हित में काम कर रही है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: अमरेश सौरभ]नई दिल्ली, 05 April 2015
मायावती का PM मोदी पर प्रहार- 'सबका साथ, सबका विकास' नारा नाकाम मायावती (फाइल फोटो)

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रहार करते हुए कहा कि 'सबका साथ, सबका विकास' वाला नारा नाकाम हो गया है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि केंद्र सरकार केवल उद्योगपतियों के हित में काम कर रही है.

मायावती ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि उसने एक ओर चुनावी वायदे पूरे नहीं किए, तो दूसरी ओर वह पूंजीपतियों और धन्नासेठों की सरकार बनकर रह गई है. बीएसपी प्रमुख ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, 'यह दस महीने के अपने अब तक के कार्यकाल में चुनावी वायदे तो पूरे करते नहीं नजर आई. इसने धन्नासेठों को ज्यादा से ज्यादा लाभ पहुंचाने की कोशिश की है. यूपीए सरकार ने धन्नासेठों को जितना लाभ पहुंचाया, एनडीए सरकार उसका चार गुना लाभ पहुंचाने में लगी हुई है.' मायावती के बारे में 15 खास बातें

मायावती ने प्रधानमंत्री मोदी पर प्रहार करते हुए कहा कि एनडीए सरकार हिन्दू संगठनों को काबू करने और अर्थव्यवस्था को सुधारने में विफल रही है. उन्होंने कहा कि बजट पूंजीपतियों के पक्ष में है. दो ब्राह्मणों को दिया भारत रत्न, दलितों की अनदेखीः मायावती

असुरक्षित महसूस कर रहे हैं अल्पसंख्यक
हिन्दू संगठनों की बढ़ती गतिविधियों पर उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक, विशेषकर मुसलमान और ईसाई असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. और तो और, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और सुप्रीम कोर्ट ने भी केन्द्र सरकार को इस बारे में सलाह दी है, लेकिन इन सलाहों को गंभीरता से नहीं लिया गया.

मायावती ने बीजेपी नेताओं की आपत्तिजनक टिप्पणियों की निन्दा करते हुए कहा कि इस तरह की टिप्पणियां देश में किसी भी समय कानून-व्यवस्था की गंभीर समस्या पैदा कर सकती हैं.

जमीन अधिग्रहण का किया विरोध
भूमि अधिग्रहण विधेयक का विरोध करते हुए उन्होंने कहा कि यह किसानों के हित में नहीं है और इसे तत्काल वापस लिया जाना चाहिए. केन्द्र को भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन करने वाला विधेयक वापस लेना चाहिए. उसे 2013 में पारित कानून ही लागू करना चाहिए.

'फिर से चुनाव कराकर दिखाए अखिलेश सरकार'
बीएसपी प्रमुख मायावती ने यूपी की अखिलेश सरकार को चुनौती देते हुए कहा है कि अगर उसमें हिम्मत है, तो वह फिर से चुनाव कराकर जनादेश हासिल करे.

प्रदेश में सत्ताधारी सपा सरकार के चुनावी वायदे पूरे करने के दावों को खारिज करते हुए मायावती ने यह बात कही. उन्होंने कहा कि अगर सपा सरकार को अपने दावे पर इतना भरोसा है, तो वह मध्यावधि चुनाव कराकर नया जनादेश हासिल करने की हिम्मत दिखाए.

मायावती ने लखनऊ मेट्रो रेल सहित अन्य परियोजनाओं का जिक्र करते हुए दावा किया कि ये सभी परियोजनाएं बीएसपी के शासन में शुरू की गई थीं, जिन्हें सपा सरकार अपना बता रही है. उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था के बारे में मायावती ने कहा, 'सपा सरकार के समय में हर तरह का अपराध बढ़ा है. बाहरी लोग उत्तर प्रदेश को क्राइम प्रदेश कहने लगे हैं. यूं तो सपा सरकार के शासनकाल में कानून-व्यवस्था ध्वस्त ही रहती है, लेकिन इस बार सारे रिकार्ड टूट गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay