एडवांस्ड सर्च

तेलंगानाः कांग्रेसी नेता ईसा मिश्री पर मारपीट का आरोप

तेलंगाना में वोटिंग के दौरान कांग्रेसी नेता ईसा मिश्री और उनके बेटे पर मारपीट का आरोप लगाया गया है. इससे पहले विधानसभा चुनाव में ईसा मिश्री ने AIMIM पर मारपीट का आरोप लगाया था.

Advertisement
aajtak.in
आशीष पांडेय नई दिल्ली, 11 April 2019
तेलंगानाः कांग्रेसी नेता ईसा मिश्री पर मारपीट का आरोप ईसा मिश्री

तेलंगाना में गुरुवार को पहले चरण के मतदान के दौरान कांग्रेस और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के समर्थक आपस में भिड़ गए. इस दौरान कांग्रेस के नेता ईसा मिश्री के साथ मारपीट का मामला भी सामने आया है. हालांकि AIMIM का कहना है कि हमला मिश्री की ओर से हुआ था. ओवैसी की पार्टी AIMIM का कहना है कि मिश्री और उनके बेटे ने राइजिंग सन स्कूल बंदलागुड़ा में एसएचओ के सामने पूर्व कॉर्पोरेटर समद बिन अब्दाद पर हमला किया. आरोप है कि वह वोटिंग में बाधा डाल रहे थे. इस मामले को  Habeeb-E-Millat Political Research Centre ने ट्वीट किया है, जिसे AIMIM असदुद्दीन ओवैसी ने रिट्वीट किया है.

बात दें कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान चंद्रायनगुट्टा निर्वाचन क्षेत्र से अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ कांग्रेस के ईसा मिश्री खड़े थे. मिश्री ने कांग्रेस पार्टी के कैंपेनिंग में असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ प्रचार भी किया था. ईसा मिश्री ने आरोप लगाया है कि AIMIM के समर्थकों ने उन पर हमला किया. ईसा मिस्री का नाम ईसा बिन ओवेद मिसरी है. वह पेशेवर बॉडी बिल्डर रहे हैं.

इधर, लोकसभा चुनाव-2019 में वोट देने के बाद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि तेलंगाना की आवाम जरूर उन पार्टियों को वोट देगी जो तेलंगाना के लिए काम करती हैं. आंध्र प्रदेश के बारे में उन्होंने कहा कि आंध्र में हमारे दोस्त जगन की ही जीत होगी. बता दें कि आंध्र प्रदेश में इस बार लोकसभा चुनाव के साथ-साथ विधानसभा चुनाव के लिए भी मतदान हो रहा है. AIMIM प्रमुख ने कहा कि देश की जनता कभी भी जज्बाती मुद्दों पर वोट नहीं करती है.

कश्मीर के मुद्दे पर ओवैसी ने बड़ा बयान दिया, उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर किसी के बाप की जागीर नहीं है. ओवैसी के इस जवाब को जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के बयान से जोड़ा जा रहा है. महबूबा मुफ्ती लगातार बयान दे रही हैं कि अगर अनुच्छेद 370, 35ए पर कोई एक्शन लिया जाता है तो जम्मू-कश्मीर भारत से अलग हो जाएगा.

ओवैसी का गढ़ है हैदराबाद

असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद संसदीय सीट से चौथी बार चुनावी मैदान में हैं. 2014 में मोदी लहर के बावजूद ओवैसी हैदराबाद सीट से 6 लाख 13 हजार 868 वोट हासिल करने में कामयाब रहे थे. उन्होंने BJP के डॉ. भगवंत राव को 3 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से हराया था. कांग्रेस के ए. कृष्णा रेड्डी को 49 हजार 310 और टीआरएस के राशिद शरीफ को 37 हजार 195 वोट मिल सके थे.

चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़लेटर

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay