एडवांस्ड सर्च

कर्नाटक संकट पर बोलीं ममता- अब मध्य प्रदेश और राजस्थान के लिए खतरा

ममता बनर्जी ने कहा कि आज कोई पार्टी सत्ता में है, कल कोई और पार्टी सत्ता में होगी. यह संकट का समय है. हम क्षेत्रीय पार्टियों का समर्थन करते हैं. कर्नाटक के बाद वह (बीजेपी) मध्य प्रदेश और राजस्थान जाएंगे. मुझे लगता है कि सभी क्षेत्रीय पार्टियों को एकत्रित होना चाहिए.

Advertisement
aajtak.in
मनोज्ञा लोइवाल कोलकाता, 10 July 2019
कर्नाटक संकट पर बोलीं ममता- अब मध्य प्रदेश और राजस्थान के लिए खतरा (फाइल फोटो- ममता बनर्जी, सोर्स- IANS)

कर्नाटक में राजनीतिक घमासान अभी भी जारी है. यह मामला अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है. इस मामले पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की भी प्रतिक्रिया आई है. ममता बनर्जी ने कहा कि हमें मीडिया के जरिए पता चला कि कांग्रेस विधायकों बंद कर दिया गया था.

ममता बनर्जी ने आरोप लगाते हुए कहा कि मीडिया को भी वहां नहीं जाने दिया जा रहा. भारतीय जनता पार्टी विधायकों की खरीद-फरोख्त कर रही है. कुछ दिन पहले, बीजेपी ने लोकसभा चुनाव जीते थे, उन्हें देश की देखभाल करनी चाहिए. बीजेपी इतनी लालची क्यों है? यह गंदी राजनीति है.

ममता बनर्जी ने कहा कि आज कोई पार्टी सत्ता में है, कल कोई और पार्टी सत्ता में होगी. यह संकट का समय है. हम क्षेत्रीय पार्टियों का समर्थन करते हैं. कर्नाटक के बाद वह (बीजेपी) मध्य प्रदेश और राजस्थान जाएंगे. मुझे लगता है कि सभी क्षेत्रीय पार्टियों को एकत्रित होना चाहिए. यहां तक कि मीडिया को भी इसके खिलाफ एकत्रित होना चाहिए.

गौरतलब है कि कर्नाटक इन दिनों सियासी संकट से जूझ रहा है. कांग्रेस-जेडीएस के 13 विधायक अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) पर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लग रहा है. बीजेपी कर्नाटक के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने मंगलवार को दावा किया था कि जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार अल्पमत में है, इसलिए सरकार कभी भी गिर सकती है.

वहीं बीजेपी की ओर से यह भी दावा किया जा रहा है कि उसके संपर्क में इस्तीफा देने वाले कई विधायक हैं. कर्नाटक में बीजेपी के पास पहले से ही 105 विधायक है. 224 विधानसभा वाले कर्नाटक में बहुमत का आंकड़ा छूने का दावा बीजेपी के नेता कर रहे हैं. ऐसे में कांग्रेस-जेडीएस की सरकार खतरे में हैं. वहीं कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी लगातार सरकार बचाने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीं कर्नाटक सियासी संकट का मामला अब सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है. कांग्रेस और जेडीएस के 10 बागी विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ याचिका दाखिल की है. मामले की सुनवाई के दौरान बागी विधायकों की तरफ से वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि स्पीकर अपने दायित्व का पालन नहीं कर रहे हैं. कर्नाटक में अजीब परिस्थिति है. विधायकों को जनता के बीच दोबारा जाना भी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay