एडवांस्ड सर्च

कानपुर: ज्योति मर्डर केस में पति पीयूष ने कबूला गुनाह, कई लड़कियों से थे संबंध

कानपुर के अरबपति बिस्किट व्यापारी की पत्नी ज्योति की हत्या उसके पति पीयूष ने ही की थी. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, रविवार रात हुई हत्या के केस में पति ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. हत्याकांड में कार के ड्राइवर की मदद लेने की बात सामने आई है. बताय जा रहा है कि ज्योति के पति पीयूष के कई लड़कियों से संबंध थे और इसी के चलते ज्योति की हत्या की गई.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: कुलदीप मिश्र]कानपुर, 31 July 2014
कानपुर: ज्योति मर्डर केस में पति पीयूष ने कबूला गुनाह, कई लड़कियों से थे संबंध Kanpur Jyoti murder case

कानपुर के अरबपति बिस्किट व्यापारी की पत्नी ज्योति की हत्या उसके पति पीयूष श्यामदेवानी ने ही की थी. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, रविवार रात हुई हत्या के केस में पति ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. हत्याकांड में कार के ड्राइवर की मदद लेने की बात सामने आई है. बताय जा रहा है कि ज्योति के पति पीयूष के कई लड़कियों से संबंध थे और इसी के चलते ज्योति की हत्या की गई.

सूत्रों के मुताबिक, हत्या के दिन पीयूष और उसकी कथित गर्लफ्रेंड के बीच 150 मैसेज किए गए. जब पुलिस ने पीयूष और उसकी गर्लफ्रेंड को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की तो पीयूष टूट गया और अपना गुनाह कबूल कर लिया.  पीयूष पर सबसे पहले शक तब हुआ जब यह खुलासा हुआ कि घटना के वक्त और पोस्टमॉर्टम के वक्त उसने अलग-अलग टी-शर्ट पहन रखी थी. पुलिस के हाथ एक रेस्त्रां का सीसीटीवी फुटेज भी लगा जिसमें पीयूष अपनी पत्नी ज्योति के साथ खाना-खाने बैठा था, लेकिन दोनों के बीच बिल्कुल भी बात नहीं हो रही थी, बल्कि पीयूष फोन पर लगातार बात कर रहा था.

बताया जा रहा है कि वारदात के पहले ज्योति और पीयूष ने जिस रेस्टोरेंट में डिनर किया था पुलिस ने उस रेस्टोरेंट के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला है. जिसके बाद पुलिस का शक और गहरा गया है. आज तक से खास बातचीत में कानपुर जोन के आईजी आशुतोष पांडे ने कहा कि पुलिस के पास पीयूष पर शक की कई वजह है.

पुलिस के मुताबिक: -

- पीयूष ने डिनर के वक्त कोई और टी-शर्ट पहन रखी थी जबकि पत्नी के पोस्टमॉर्टम के वक्त पीयूष की टी-शर्ट बदल चुकी थी.
- बकौल पीयूष ज्योति को अगवा करते वक्त बदमाशों ने उनके साथ मारपीट की थी लेकिन पीयूष के शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं पाए गए है.
- अपहरण की सूचना देने में पीयूष ने एक घंटा क्यों लगाया जबकि श्याम के पास मोबाइल फोन भी था और 500 मीटर की दूरी पर एक पुलिस चौकी भी थी.

पुलिस का ये भी कहना है कि पीयूष के बयान में एकरूपता नहीं है. पीयूष ने मीडिया के सामने भी दिए गए बयान में खुद इस बात की तस्दीक की थी कि उसके साथ मारपीट की गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay