एडवांस्ड सर्च

यूपीए सरकार के कारण गिरी भारत की साख: राजनाथ

राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस की नीतियों ने देश को संकट के भंवर में खड़ा कर दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत की साख तेजी से गिरी है. इसके लिए कांग्रेस के साथ ही उसे लगातार समर्थन देने वाली सपा और बसपा भी उतनी ही जिम्मेदार हैं.

Advertisement
aajtak.in
आज तक वेब ब्यूरो/भाषानई दिल्ली, 11 March 2013
यूपीए सरकार के कारण गिरी भारत की साख: राजनाथ

राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस की नीतियों ने देश को संकट के भंवर में खड़ा कर दिया है. उन्होंने कहा कि लगातार नौ वर्ष से केंद्र में कांग्रेस की सरकार है भारत इससे पहले विश्व में आर्थिक दृष्टि से ताकतवर देश बनने की तरफ अग्रसर था लेकिन सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत की साख तेजी से गिरी है. इसके लिए कांग्रेस के साथ ही उसे लगातार समर्थन देने वाली सपा और बसपा भी उतनी ही जिम्मेदार हैं.

उन्होंने सीबीआई के पूर्व निदेशक को नागालैंड का राज्यपाल बनाए जाने पर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि केंद्र सरकार स्वस्थ परंपराओं को तोड़ने पर आमादा है. उन्होंने कहा कि सपा-बसपा सीबीआई के भय से केंद्र की कांग्रेस सरकार को समर्थन दे रही है, यह ठीक नहीं है.

सिंह ने कहा कि बेहतर हुकुमत और प्रशासन कोई दे सकता है तो वह भाजपा है. उन्होंने इसके साथ ही गुजरात, मध्यप्रदेश, कर्नाटक व गोवा की भाजपा सरकारों की सराहना की. उन्होंने कहा हुकुमत संवेदनशील होनी चाहिए. उन्होंने कहा देश की विकास दर पांच फीसदी है तो उसका कारण भी भाजपा शासित राज्य सरकारें हैं अन्यथा विकास दर साढ़े तीन फीसदी होता.

भाजपा अध्यक्ष एवं गाजियाबाद के सांसद राजनाथ सिंह ने कहा है कि यदि उत्तर प्रदेश सरकार राजा भैया के मामले में ईमानदार भूमिका निभाएगी तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा. उन्होंने कहा कि उततर प्रदेश में जनता और सरकारी अधिकारी भी सुरक्षित नहीं है और इसके लिए प्रदेश सरकार ही जिम्मेदार है.

उन्होंने रामगोपाल यादव के एक बयान पर प्रतिक्रिया में कहा कि जब भाजपा की सरकार आती है तो अमन चैन क्यों कायम हो जाती है. गौरतलब है कि रामगोपाल यादव ने एक बयान में कहा था कि बढ़ते अपराध के लिए भाजपा और कांग्रेस जिम्मेदार है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay