एडवांस्ड सर्च

दूल्हा बनने को बेताब आर्मी का ये जवान, कैंप से दूसरी बार हुआ रफूचक्कर!

इस सैनिक के सेना छोड़कर भागने की वजह भी मजेदार है. यह सैनिक शादी करके घर बसाना चाहता है. आपको लगेगा कि शादी करके भी नौकरी की जा सकती है, लेकिन इस सैनिक को ऐसा नहीं लगता. अब वह आराम से वैवाहिक जीवन का आनंद लेना चाहता है. उसकी यही ख्वाहिश उसके वरिष्ठ अधिकारियों के लिए परेशानी का सबब बन गई है.

Advertisement
aajtak.in
भारत सिंह अंबाला, 23 January 2018
दूल्हा बनने को बेताब आर्मी का ये जवान, कैंप से दूसरी बार हुआ रफूचक्कर! सांकेतिक तस्वीर

भारतीय सेना और सैनिकों का नाम सुनते ही अधिकतर लोगों के मन में देशभक्ति की भावनाएं हिलोरे मारने लगती हैं. लेकिन भारतीय थल सेना का एक सैनिक सेना की अपनी नौकरी छोड़कर बार-बार भाग जा रहा है. सेना के अधिकारी उसे पकड़ कर ला रहे हैं कि उसे इस हरकत के लिए आर्मी कोर्ट के सामने पेश किया जा सके, लेकिन वह फिर से भाग गया.

इस सैनिक के सेना छोड़कर भागने की वजह भी मजेदार है. यह सैनिक शादी करके घर बसाना चाहता है. आपको लगेगा कि शादी करके भी नौकरी की जा सकती है, लेकिन इस सैनिक को ऐसा नहीं लगता. अब वह आराम से वैवाहिक जीवन का आनंद लेना चाहता है. उसकी यही ख्वाहिश उसके वरिष्ठ अधिकारियों के लिए परेशानी का सबब बन गई है.

पी. नवीन नाम का यह सैनिक मूल रूप से आंध्र प्रदेश के कृष्णानगर का रहने वाला है और भारतीय सेना में आठ साल से ज्यादा की सेवाएं दे चुका है. इसे कई बार वीरता और बेहतर प्रदर्शन के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है, लेकिन इसे लग रहा है कि बस बहुत हो गई नौकरी.

यह सैनिक पहले भी एक बार सेना के कैंप से भाग चुका है और इसे खोजने में सेना के अधिकारियों के 4 महीने खर्च हो गए. बड़ी मुश्किल के बाद यह अधिकारियों की पकड़ में आया और इसे इसकी यूनिट में हरियाणा लाया जा रहा था कि यह बेंगलुरु रेलवे स्टेशन से अधिकारियों को चकमा देकर फिर भाग निकला. सैन्य अधिकारी फिर से इसकी तलाश में जुट गए हैं.

टाइम्स ग्रुप की एक खबर के मुताबिक इस सैनिक ने शुरुआत में देशप्रेम और कमजोर आर्थिक स्थिति की वजह से भारतीय सेना की नौकरी शुरू की थी. वह 2017 में वह हरियाणा में अंबाला मिलिट्री कैंप की मद्रास रेजिमेंट से भाग निकला. सैन्य अधिकारियों ने इस सैनिक के घरवालों से बात की और घरवालों ने भी उन्हें फिर से सेना में जाने के लिए कहा, हालांकि उसका मन नहीं बदला.

इसके बाद हरियाणा कैंप बटालियन चीफ एस बर्नबन सुंदर दास नवीन की तलाश में आंध्र प्रदेश पहुंचे थे. उन्होंने स्थानीय पुलिस की मदद से उसे तलाश लिया था, लेकिन वह फिर से भाग निकला.

बताया जा रहा है कि नवीन शादी के बाद सेना में नहीं जाना चाहता. आपको बता दें कि नवीन के खिलाफ आईपीसी की धारा 224 के तहत अधिकारियों के कर्तव्यों में दखल का मामला दर्ज किया गया है. देखना होगा कि नवीन और सेना के अधिकारियों के बीच लुकाछिपी कितने दिन और चलती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay