एडवांस्ड सर्च

मालदीव को 1.4 बिलियन डॉलर की मदद देगा भारत, दोनों देशों में 4 MoU

मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति सोलिह आपका, श्रीमती सोलिह और आपके शिष्टमंडल के सदस्यों का भारत में हार्दिक स्वागत करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है. मालदीव के राष्ट्रपति का पद ग्रहण करने पर एक बार फिर से आपको बधाई.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 17 December 2018
मालदीव को 1.4 बिलियन डॉलर की मदद देगा भारत, दोनों देशों में 4 MoU PM मोदी की मालदीव के राष्ट्रपति सोलिह से मुलाकात (फोटो-ट्विटर)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को ऐलान किया कि भारत मालदीव को आर्थिक विकास के लिए 1.4 बिलियन डॉलर की मदद करेगा. इसके अलावा दोनों देशों के बीच 4 विषयों पर समझौता हुआ जिसमें एक वीजा को लेकर सहुलियत देना भी शामिल है.

मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह तीन दिवसीय भारत की राजकीय यात्रा पर हैं. उनकी यात्रा के दूसरे दिन प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति सोलिह के साथ बातचीत की. इस बातचीत का लक्ष्य द्विपक्षीय संबंधों में नए अध्याय की शुरुआत करना है. एक महीने पहले देश की सत्ता संभालने के बाद यह उनका पहला विदेश दौरा है.

राष्ट्रपति निर्वाचित होने के बाद पहली बार भारत का दौरा कर रहे इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने कहा कि भारत हमारा करीबी पड़ोसी है और दोनों देशों के लोग मित्रता और सांस्कृतिक समानता के संबंध से जुड़े हुए हैं. सोलिह तीन दिवसीय राजकीय यात्रा पर रविवार को यहां पहुंचे.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'मुझे खुशी है कि इस प्रतिबद्धता की प्रत्यक्ष अभिव्यक्ति के तौर पर, मालदीव के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए बजट सपोर्ट, करेंसी स्वाप और रियायती लाइन ऑफ क्रेडिट के रूप में 1.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर की आर्थिक सहायता भारत मालदीव को प्रदान करेगा. दोनों देशों के बीच कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए भी भारत का पूर्ण सहयोग रहेगा. बेहतर कनेक्टिविटी से गुड्स, सर्विस और सूचना, विचारों, संस्कृति और लोगों के आदान-प्रदान को बढ़ावा मिलेगा.

भारत के लिए सम्मान का विषय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति सोलिह आपका, श्रीमती सोलिह और आपके शिष्टमंडल के सदस्यों का भारत में हार्दिक स्वागत करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है. मालदीव के राष्ट्रपति का पद ग्रहण करने पर एक बार फिर से आपको बधाई. मालदीव के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व में लोकतंत्र के लिए आपका संघर्ष और आपकी सफलता प्रेरणा का स्रोत हैं.

उन्होंने आगे कहा, 'पिछले महीने आपके शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होना मेरे लिए ही नहीं, भारत के लिए बहुत सम्मान का विषय था.' उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति का पद ग्रहण करने के एक महीने के भीतर अपनी पहली विदेश यात्रा के लिए आपने भारत को चुना है. यह हमारे लिए बहुत सम्मान और गर्व का विषय है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आपकी इस यात्रा से उस गहरे आपसी भरोसे और दोस्ती की झलक मिलती है जिन पर भारत-मालदीव संबंध आधारित हैं. हमारी मित्रता सिर्फ हमारी भौगोलिक समीपता के कारण ही नहीं है. सागर की लहरों ने हमारे तटों को जोड़ा है. इतिहास, संस्कृति, व्यापार और सामाजिक संबंध हमें हमेशा और भी नजदीक लाए हैं. आपकी इस यात्रा से दोनों देशों के बीच इन संबंधों के इतिहास में एक नए अध्याय की शुरुआत होगी..

दोनों देशों में सौहार्द्रपूर्ण माहौल

दोनों देशों के बीच मजबूत होते रिश्तों के बारे में मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति सोलिह और मेरे बीच आज बहुत ही सौहार्द्रपूर्ण और मित्रता भरे वातावरण में बहुत सफल चर्चा हुई. हमने दोनों देशों के बीच परंपरागत मजबूत तथा मैत्रीपूर्ण संबंधों को और अधिक प्रगाढ़ करने की हमारी दृढ़ प्रतिबद्धता को दोहराया.

सोलिह सोमवार को एक औपचारिक स्वागत के बाद प्रधानमंत्री मोदी के साथ शीर्ष स्तर पर बैठक की. वह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मिले. सोलिह के साथ उनकी पत्नी फजना अहमद भी दौरे पर आई हुई हैं.

इससे पहले तीन दिवसीय राजकीय यात्रा पर रविवार को भारत पहुंचने के बाद मालदीव के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने कहा कि भारत हमारा करीबी पड़ोसी है और दोनों देशों के लोग मित्रता और सांस्कृतिक समानता के संबंध से जुड़े हुए हैं. राष्ट्रपति बनने के बाद वह अपने पहले विदेशी दौरे पर हैं. भारत पहुंचने पर उनकी अगवानी केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay