एडवांस्ड सर्च

कालाधनः राजीव सक्सेना के 9 ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी

आयकर विभाग ने राजीव सक्सेना के 9 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की है. आयकर विभाग ने यह कार्रवाई कालेधन और अघोषित संपत्ति के मामले में की गई है. इससे पहले राजीव सक्सेना अगस्ता वेस्टलैंड सौदा मामले में सरकारी गवाह बन गए थे.

Advertisement
aajtak.in
मुनीष पांडे नई दिल्ली, 30 June 2019
कालाधनः राजीव सक्सेना के 9 ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी प्रतीकात्मक तस्वीर

आयकर विभाग ने राजीव सक्सेना के 9 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की है. आयकर विभाग ने यह कार्रवाई कालेधन और अघोषित संपत्ति के मामले में की गई है. इससे पहले राजीव सक्सेना अगस्ता वेस्टलैंड सौदा मामले में सरकारी गवाह बन गए थे. सरकारी गवाह बनने से पहले राजीव सक्सेनाअगस्ता वेस्टलैंड मामले में आरोपी थे.माना जा रहा है कि ये छापे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और देश के दूसरे शहरों में मारा जा रहा है. आयकर विभाग ने इन जगहों का खुलासा नहीं किया है.

इससे पहले 26 जून को सुप्रीम कोर्ट ने राजीव सक्सेना की विदेश यात्रा पर रोक लगा दी थी. कोर्ट के फैसले के बाद अब राजीव सक्सेना फिलहाल विदेश नहीं जा सकेगा. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने एम्स डॉयरेक्टर को एक मेडिकल बोर्ड का गठन करने का आदेश दिया था, ये मेडिकल बोर्ड तीन हफ्ते में राजीव सक्सेना की स्वास्थ्य रिपोर्ट तीन हफ्तों में सुप्रीम कोर्ट को देगा.

बता दें कि तीन महीने पहले राजीव सक्सेना अगस्ता वेस्टलैंड केस में सरकारी गवाह बन गया था. राजीव सक्सेना को 31 जनवरी को दुबई से प्रत्यर्पण कर लाया गया था. राजीव सक्सेना दुबई की दो कंपनियां यूएचवाई और मैट्रिक्स होल्डिंग्स का निदेशक है. अगस्ता वेस्टलैंड मामले मे ईडी ने उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी. माना जाता है कि राजीव सक्सेना ने ही वह लिंक खोजा था, जिसके जरिए कथित रूप से रक्षा अधिकारियों और नेताओं को अगस्ता वेस्टलैंड केस में रिश्वत की रकम दी गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay