एडवांस्ड सर्च

रोहित वेमुला की हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव में ABVP की हार, एएसजे ने जीते सभी पद

स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया और अंबेडकर स्टूडेंट एसोसिएशन के गठबंधन वाली एलायंस फॉर सोशल जस्टिस (एएसजे) ने शुक्रवार को सभी पदों पर जीत हासिल कर ली है. बीजेपी की स्टूडेंट विंग (एबीवीपी) और कांग्रेस की स्टूडेंट विंग (एनएसयूआई) को हराते हुए एलायंस फॉर सोशल जस्टिस (एएसजे) ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव, संयुक्त सचिव, सांस्कृतिक सचिव और खेल सचिव के पद पर कब्जा किया है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: सना जैदी]हैदराबाद, 23 September 2017
रोहित वेमुला की हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव में ABVP की हार, एएसजे ने जीते सभी पद रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद यूनिवर्सिटी में भारी विरोध प्रदर्शन हुआ था

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में हार के बाद अब हैदराबाद केंद्रीय यूनिवर्सिटी (एचसीयू) के छात्र संघ चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की स्टूडेंट विंग अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) को झटका लगा है.

स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया और अंबेडकर स्टूडेंट एसोसिएशन के गठबंधन वाली एलायंस फॉर सोशल जस्टिस (एएसजे) ने शुक्रवार को आए नतीजों में सभी पदों पर जीत हासिल की. बीजेपी की स्टूडेंट विंग (एबीवीपी) और कांग्रेस की स्टूडेंट विंग (एनएसयूआई) को हराते हुए एलायंस फॉर सोशल जस्टिस (एएसजे) ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव, संयुक्त सचिव, सांस्कृतिक सचिव और खेल सचिव के पद पर कब्जा किया है.

वहीं अटेंडेंस कम होने की वजह से उपाध्यक्ष पद पर निर्वाचित उम्मीदवार का चुनाव रद्द कर दिया गया. इस पद पर एएसजे उम्मीदवार ने जीत दर्ज की थी. उनकी उम्मीदवारी अयोग्य घोषित किए जाने के खिलाफ छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया. इसलिए आधिकारिक तौर पर इस पद के नतीजों का ऐलान नहीं किया गया. श्रीराग पी. छात्र संघ के नए अध्यक्ष के तौर पर चुने गए हैं, वहीं आरिफ अहमद को महासचिव चुना गया है.

बता दें कि हैदराबाद यूनिवर्सिटी पिछले साल जनवरी में रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद जाति के आधार पर होने वाले भेदभाव को लेकर सुर्खियों में आई थी. गौरतलब है कि इस साल देश के कई विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनावों में एबीवीपी की हार हुई है. हाल ही में 13 सितंबर को दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव (डूसू चुनाव) में कांग्रेस की स्टूडेंट विंग (NSUI) ने अध्यक्ष पद और उपाध्यक्ष पद कब्जा जमाकर एबीवीपी को झटका दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay