एडवांस्ड सर्च

चीनी नागरिकों को लंबे समय के बिजनेस वीजा पर गृह मंत्रालय की ना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही ब्रिक्स समूह के सदस्य देशों के बीच व्यापार को बढ़ावा देने के लिए यहां के व्यापारियों के लिए उदारवादी यात्रा नीति के पक्षधर हों, पर केंद्रीय गृहमंत्रालय इस पर पूरी तरह से सहमत नहीं है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: संदीप कुमार सिन्हा]नई दिल्ली, 02 April 2015
चीनी नागरिकों को लंबे समय के बिजनेस वीजा पर गृह मंत्रालय की ना ब्राजील में हुए पिछले ब्रिक्स सम्मेलन की तस्वीर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही ब्रिक्स समूह के सदस्य देशों के बीच व्यापार को बढ़ावा देने के लिए यहां के व्यापारियों के लिए उदारवादी यात्रा नीति के पक्षधर हों, पर केंद्रीय गृहमंत्रालय इस पर पूरी तरह से सहमत नहीं है. गृहमंत्रालय ने सुरक्षा कारणों से चीनी नागरिकों को लंबे वक्त के लिए बिजनेस वीजा देने पर आपत्ति जताई है. यह खबर अंग्रेजी अखबार द इकोनॉमिक टाइम्स ने दी है. BRICS विकास बैंक का CEO होगा हिंदुस्‍तानी

अखबार के मुताबिक, हाल में हुई एक बैठक में गृह मंत्रालय ने अपनी आपत्ति से विदेश मंत्रालय को अवगत कराया और साथ ही ब्रिक्स बिजनेस ट्रेवल कार्ड (BBTC) के लॉन्च को फिलहाल टालने की मांग की.

ब्रिक्स बिजनेस ट्रेवल कार्ड लॉन्च करने की है योजना
आपको बता दें कि मोदी सरकार ने व्यापार में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप को और बढ़ाने के लिए ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के बिजनेसमैन के लिए ब्रिक्स बिजनेस ट्रेवल कार्ड को लॉन्च करने की योजना बनाई थी. लेकिन गृह मंत्रालय इस कार्ड को लेकर पूरी तरह से संतुष्ट नहीं है. मंत्रालय की मांग है कि सभी मुद्दों पर चर्चा हो.

फिलहाल भारत में चीन के व्यापारियों को दो महीने का सिंगल एंट्री और 6 महीने का मल्टिपल एंट्री वीजा दी जाती है. यूपीए सरकार के दौरान मल्टिपल वीजा की अवधि को बढ़ाकर 1 साल करने की योजना थी पर इसे लागू नहीं किया जा सका.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay