एडवांस्ड सर्च

संसद भवन में अमित शाह को मिला PM मोदी के बराबर वाला कमरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में लगातार दूसरी बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनी है. आज से 17वीं लोकसभा का पहला सत्र शुरू हो रहा है. इस सरकार के नए गृह मंत्री अमित शाह को संसद भवन में प्रधानमंत्री मोदी के नजदीक वाला रूम नंबर 8 मिला है.

Advertisement
aajtak.in
अशोक सिंघल नई दिल्ली, 17 June 2019
संसद भवन में अमित शाह को मिला PM मोदी के बराबर वाला कमरा संसद भवन में अमित शाह को मिला PM मोदी के बराबर वाला रूम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में लगातार दूसरी बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनी है. आज से नई सरकार का पहला सत्र शुरू हो गया है. इस सरकार के नए गृह मंत्री अमित शाह को संसद भवन में प्रधानमंत्री मोदी के नजदीक वाला रूम नंबर 8 मिला है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रूम नंबर 10 में बैठते हैं और रूम नंबर 9 उनका कॉन्फ्रेंस रूम है. उसके ठीक बराबर वाला 8 नंबर रूम अमित शाह के लिए अलॉट किया गया है. बता दें कि पिछले कार्यकाल में अमित शाह से पहले इस रूम में संसदीय सचिव बैठा करते थे. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रूम नंबर 13 में बैठते हैं, जबकि रूम नंबर 12 में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह और रूम नंबर 11 में प्रधानमंत्री का कार्यालय है.

इन्हें मिला सुषमा-जेटली का रूम

इसके अलावा रूम नंबर 44 नितिन गडकरी को दिया गया है. यह रूम पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को मिला हुआ था और अरुण जेटली का रूम नंबर 27 थावरचंद गहलोत को मिला है, जो राज्यसभा में लीडर ऑफ द हाउस बनाए गए हैं. इस बार अरुण जेटली और सुषमा स्वराज ने चुनाव नहीं लड़ा था. इसलिए उनके कमरे अन्य मंत्रियों को दे दिए गए हैं.

2_061719102408.jpgअमित शाह को मिला कमरा नं. 8

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लगातार दूसरी बार सरकार बनने के बाद संसद का पहला सत्र आज यानी सोमवार से शुरू हो गया है. इसी सत्र में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट भी पेश किया जाएगा और तीन तलाक जैसे कई महत्वपूर्ण विधेयकों पर सरकार आगे बढ़ेगी.

17वीं लोकसभा का बजट सत्र 26 जुलाई 2019 तक चलेगा. राज्यसभा का सत्र 20 जून को शुरू होगा और 26 जुलाई तक चलेगा. वित्त वर्ष 2019-20 का पूर्ण बजट 5 जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी. संसद का यह सत्र 40 दिनों तक चलेगा और इसमें 30 बैठकें होंगी. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 20 जून को लोकसभा और राज्यसभा के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करेंगे जिसके बाद उनके संबोधन पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay