एडवांस्ड सर्च

बंगाल पर अमित शाह ने संभाली कमान, आतंरिक सुरक्षा पर NSA, IB और RAW चीफ के साथ मीटिंग

इस बैठक में देश की आंतरिक सुरक्षा से जुड़े तमाम पहलुओं पर चर्चा हो रही है. लिहाजा इसमें पश्चिम बंगाल हिंसा समेत अलीगढ़ घटना पर भी चर्चा हो सकती है. बता दें कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के मुद्दे पर बीजेपी सोमवार को पश्चिम बंगाल में काला दिवस मना रही है. वहीं अब से कुछ घंटे बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी भी गृहमंत्री अमित शाह से मुलाक़ात कर सकते हैं.

Advertisement
aajtak.in
जितेंद्र बहादुर सिंह नई दिल्ली, 10 June 2019
बंगाल पर अमित शाह ने संभाली कमान, आतंरिक सुरक्षा पर NSA, IB और RAW चीफ के साथ मीटिंग गृह मंत्री अमित शाह और NSA अजीत डोभाल (फाइल फोटो)

देश की आंतरिक सुरक्षा पर गृह मंत्री अमित शाह एक उच्च स्तरीय बैठक कर रहे हैं. इस बैठक में अमित शाह के अलावा गृह सचिव राजीव गौबा, NSA अजीत डोभाल, IB चीफ, RAW चीफ सहित गृह मंत्रालय के दूसरे अधिकारी मौजूद हैं. सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा पर भी चर्चा हो रही है. पश्चिम बंगाल में पिछले दो दिनों में राजनीतिक हिंसा में 8 लोगों की मौत हो चुकी है. इसमें 5 बीजेपी कार्यकर्ता और 3 टीएमसी कार्यकर्ता शामिल हैं.

इस बैठक में देश की आंतरिक सुरक्षा से जुड़े तमाम पहलुओं पर चर्चा हो रही है. लिहाजा इसमें पश्चिम बंगाल हिंसा समेत अलीगढ़ घटना पर भी चर्चा हो सकती है. बता दें कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के मुद्दे पर बीजेपी सोमवार को पश्चिम बंगाल में काला दिवस मना रही है. वहीं पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है. माना जा रहा है कि दोनों के बीच राज्य में जारी हिंसा पर चर्चा हुई है. कुछ घंटे बाद राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करने वाले हैं.

बता दें कि गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा को लेकर अपनी चिंता जाहिर करते हुए राज्य सरकार को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए एडवाइजरी भी जारी की थी. केंद्र सरकार की एडवाइजरी का जवाब देते हुए ममता बनर्जी सरकार दो टूक शब्दों में कहा था कि राज्य में हालात नियंत्रण में हैं. राज्य के मुख्य सचिव मलय कुमार ने गृह मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा है कि हिंसा के सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी और उचित कार्रवाई की गई है. उन्होंने लिखा है कि कुछ असमाजिक तत्वों ने चुनाव बाद झड़प की छिटपुट घटनाओं को अंजाम दिया था, पुलिस ने ऐसे सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी और उचित कार्रवाई की.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रविवार को जारी दिशा निर्देश में राज्य में जारी हिंसा पर 'गहरी चिंता' जाहिर की थी और कानून और व्यवस्था, सार्वजनिक शांति बनाए रखने का निर्देश दिया था. पश्चिम बंगाल सरकार ने केंद्र को बताया है कि 24 परगना के नाजत पुलिस स्टेशन के तहत आने वाले इस मामले को तत्काल दर्ज करने के साथ ही जांच शुरू कर दी गई है. वहीं क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए पुलिस दल की टुकड़ियां तैनात की गई हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay