एडवांस्ड सर्च

भारी बारिश-बाढ़ से हाहाकार, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात बेहाल

देश के कई हिस्सों में भारी बारिश ने तबाही मचा रखी है. राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश में बारिश ने कहर बरपा रखा है. लगातार आफत बनी बारिश के साथ ही राजस्थान में कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद कई इलाकों में बाढ़ के हालात बन गए हैं.

Advertisement
aajtak.in
देव अंकुर जयपुर, 15 September 2019
भारी बारिश-बाढ़ से हाहाकार, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात बेहाल भोपाल के गांवों में जलमग्न सड़कें (फोटो- PTI)

  • कोटा बैराज से साढ़े पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है
  • हडोती इलाके में बारिश से सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं
  • मध्य प्रदेश में गांधी सागर बैराज के गेट खुलने से चंबल नदी उफान पर

देश के कई हिस्सों में भारी बारिश ने तबाही मचा रखी है. राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश में बारिश ने कहर बरपा रखा है. लगातार आफत बनी बारिश के साथ ही राजस्थान में कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद कई इलाकों में बाढ़ के हालात बन गए हैं. कोटा बैराज से साढ़े पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है, जिसके लिए बैराज के 18 गेट खोल दिए गए. जिला प्रशासन  ने सभी से अलर्ट रहने के लिए कहा है. वहीं हडोती इलाके में बारिश से सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. वहीं बचाव कार्यों के लिए NDRF टीमों को समन किया गया है.

उफान पर कई नदियां

बाढ़ग्रस्त इलाकों को 9 हिस्सों में बांटा गया है और हर हिस्से के लिए आरएएस ऑफिसर तैनात किए गए हैं. वहीं गुजरात में भी भारी बारिश लोगों के लिए आफत बनी हुई है. देर रात 2 दर्जन लोगों को अलग-अलग अस्थायी बस्तियों से रेस्क्यू कराया गया. इसके अलावा मध्य प्रदेश में गांधी सागर बैराज के गेट खुलने और भारी बारिश के चलते चंबल नदी उफान पर है.

चंबल नदी के किनारों पर बसे 12 अस्थायी बस्तियों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. कई लोगों को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. कई घर पूरी तरह से पानी में डूब गए हैं.

राजस्थान के प्रतापगढ़ में कुछ लोग जाखम नदी के टापू पर फंस गए. प्रशासन ने जिले के धरियावद इलाके में फंसे 9 लोगों को बचाने की कोशिश की. वहीं राजस्थान के ही खरौली जिले में भी चंबल नदी के पानी का लेवल बढ़ रहा है. पानी गोटा गांव में घुस गया, जिसके कारण इलाके में हड़कंप मच गया. इलाके के लोग प्रशासन से मदद की गुहार लगा रहे हैं. वहीं जिला प्रशासन को भी लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के आदेश मिले हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay