एडवांस्ड सर्च

हर्षवर्धन ने संभाला WHO कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष का कार्यभार

WHO के कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में चुने जाने के बाद हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना के कारण उत्पन्न संकट से निपटने के लिए वैश्विक साझेदारी को मजबूत बनाने करने की जरूरत है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 23 May 2020
हर्षवर्धन ने संभाला WHO कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष का कार्यभार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

  • हर्षवर्धन ने जापान के हिरोकी नकातानी का स्थान लिया
  • कोरोना वायरस से मरने वालों के प्रति जताया है आभार

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को 34 सदस्यीय विश्व स्वास्थ्य संगठन कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष का कार्यभार संभाल लिया. हर्षवर्धन कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं.

हर्षवर्धन ने जापान के हिरोकी नकातानी का स्थान लिया है. कार्यभार संभालने के बाद डॉ. हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर में जान गंवाने वाले लोगों के प्रति शोक जताया.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में चुने जाने के बाद हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न मौजूदा संकट से निपटने के लिए वैश्विक साझेदारी को मजबूत बनाने और साझा तरीके से काम करने की जरूरत है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

बता दें कि कार्यकारी बोर्ड में भारत द्वारा नामित व्यक्ति को नियुक्त करने के प्रस्ताव पर 194 देशों के विश्व स्वास्थ्य निकाय ने मंगलवार को हस्ताक्षर किया था. पिछले साल, डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्व एशिया समूह ने कार्यकारी बोर्ड में 3 साल के लिए भारत के प्रतिनिधि का सर्वसम्मति से चुनाव करने का फैसला किया था.

असल में, अध्यक्ष का पद क्षेत्रीय समूहों के पास एक वर्ष के लिए क्रमिक आधार पर रहता है. पिछले साल यह तय किया गया था कि शुक्रवार से शुरू होने वाले पहले वर्ष के लिए भारतीय उम्मीदवार कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष होंगे. एक अधिकारी ने बताया कि यह पूर्णकालिक कार्य नहीं है और मंत्री को कार्यकारी बोर्ड की बैठकों की अध्यक्षता करनी होगी.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

कार्यकारी बोर्ड में 34 सदस्य होते हैं जो स्वास्थ्य विशेषज्ञ होते हैं. बोर्ड की साल में कम से कम दो बार बैठक होती है. मुख्य बैठक आम तौर पर जनवरी में होती है जबकि दूसरी बैठक अपेक्षाकृत छोटी होती है और मई में होती है.

भारत ने कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष का पद ऐसे समय में संभाला है जबकि चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस के उत्पन्न होने और बीजिंग द्वारा इसके संबंध में उठाए गए कदमों की जांच की मांग तेज हो रही है.

(समाचार एजेंसियों के इनपुट के साथ)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay