एडवांस्ड सर्च

मुस्लिम समुदाय को राम मंदिर पर अपना दिल बड़ा करना चाहिए: गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह ने 'आज तक' से खास बातचीत में कहा कि हम कहां जाएंगे? ना हमारे लिए मक्का मदीना है, न पाकिस्तान है, ना बांग्लादेश है. इसलिए मैं हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूं कि वो दिल बड़ा करें.

Advertisement
aajtak.in
सुप्रिया भारद्वाज नई दिल्ली, 24 March 2017
मुस्लिम समुदाय को राम मंदिर पर अपना दिल बड़ा करना चाहिए: गिरिराज सिंह केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

सुप्रीम कोर्ट की राम मंदिर मुद्दे को कोर्ट के बाहर बातचीत से सुलझाने की सलाह के बाद यह मुद्दा एक बार फिर भारतीय राजनीति के केंद्र में हैं. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोगों को राम मंदिर पर अपना दिल बड़ा करना चाहिए.

गिरिराज सिंह ने 'आज तक' से खास बातचीत में कहा कि हम कहां जाएंगे? ना हमारे लिए मक्का मदीना है, न पाकिस्तान है, ना बांग्लादेश है. इसलिए मैं हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूं कि वो दिल बड़ा करें.

 

हिंदू-मुस्लिम के पूर्वज एक
गिरिराज सिंह ने कहा कि राम मंदिर को कुतर्कों से नहीं जोड़ा जा सकता. उन्होंने कहा, हम बार-बार कहते हैं कि हिंदू-मुसलमान दोनों एक ही वंशज से हैं. अगर मैं मुस्लिम बन जाऊं और मेरा भाई ना बने तो 200-400 साल बाद भी मेरे पिताजी ही मेरे बच्चों के पूर्वज कहलाए जाएंगे. आज इस नजरिए से नहीं देखेंगे तो इस समस्या का निदान नहीं निकलेगा. उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से उनको अपना दिल बड़ा रखना चाहिए. वह भी मेरे भाई हैं. उनके भी पूर्वज हमारे जैसे हैं.

राम मंदिर जमीन से जुड़ा मुद्दा नहीं
केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा कि राम मंदिर को जमीन से नहीं जोड़ा जा सकता. वह आस्था का विषय है. जिस तरह मक्का-मदीना उनके धर्म की आस्था का मुद्दा है, उसी तरह से राम मेरे आस्था के प्रतीक हैं. हम दोनों के पूर्वज एकत ही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay