एडवांस्ड सर्च

मोदी सरकार ने वापस ली गांधी परिवार की SPG सुरक्षा, अब मिलेगी Z+ सिक्योरिटी

अब गांधी परिवार की सुरक्षा में Z+ श्रेणी की होगी और CRPF के कमांडो सुरक्षा ड्यूटी में तैनात होंगे. यह महत्वपूर्ण फैसला गृह मंत्रालय की उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया है. इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सुरक्षा से भी SPG कवर हटाकर CRPF की Z+ कैटेगरी की सुरक्षा दी गई थी.

Advertisement
aajtak.in
जितेंद्र बहादुर सिंह नई दिल्ली, 08 November 2019
मोदी सरकार ने वापस ली गांधी परिवार की SPG सुरक्षा, अब मिलेगी Z+ सिक्योरिटी एसपीजी सुरक्षा में सोनिया और राहुल गांधी (फाइल फोटो-Getty)

  • गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटेगी
  • कांग्रेस ने बताया सरकार की साजिश

गांधी परिवार से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है. मोदी सरकार गांधी पविवार की सुरक्षा कम करने की तैयारी कर रही है. सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि गांधी परिवार से SPG सुरक्षा घेरा हटाया जाने वाला है. अब नई व्यवस्था में एसपीजी की की जगह Z+ सुरक्षा दी जाएगी. कांग्रेस ने मोदी सरकार के इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे एक साजिश करार दिया है. कांग्रेस का कहना है कि इस फैसले के पीछे आरएसएस की मंशा काम कर रही है.

अब सिर्फ पीएम मोदी के पास होगी एसपीजी सुरक्षा

जानकारी के मुताबिक अब गांधी परिवार की सुरक्षा में Z+ श्रेणी की होगी और CRPF के कमांडो सुरक्षा ड्यूटी में तैनात होंगे. यह महत्वपूर्ण फैसला गृह मंत्रालय की उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया है. इसका मतलब है कि अब एसपीजी की सुरक्षा सिर्फ पीएम मोदी के पास ही रहेगी. क्योंकि इससे पहले एसपीजी की सुरक्षा सिर्फ चार लोगों के पास थी जिसमें पीएम मोदी के साथ-साथ सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का नाम भी शामिल था.

इस वजह से लिया गया फैसला

बताया जा रहा है कि यह निर्णय सभी सुरक्षा एजेंसियों से मिले इनपुट्स के आधार पर लिया गया है . सूत्रों के मुताबिक पिछले कुछ समय में गांधी फैमिली पर किसी तरह के हमले की कोई धमकी या उसकी आशंका नहीं थी इसी वजह से सरकार की तरफ से सुरक्षा कम करने का फैसला लिया गया.

इसके अलावा गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा हटाने का एक प्रमुख आधार और भी था. सूत्रों के मुताबिक गांधी परिवार की ओर से 30 से ज्यादा यात्राओं के बारे में एसपीजी के साथ सही तरीके से जानकारी नहीं शेयर की जा रही थी. बताया जा रहा है कि ये यात्राएं पिछले पांच साल के दौरान हुई थीं. इस यात्रा के दौरान कोई अप्रिय घटना की जानकारी भी एसपीजी को नहीं मिली थी. इसके अलावा अन्य तथ्यों के आधार पर बनाई गई रिपोर्ट का आला अधिकारियों के सामने जिक्र हुआ जिसके बाद यह फैसला लिया गया.

इससे पहले मनमोहन सिंह की सुरक्षा हटी थी

सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा समय-समय पर की जाती है और यदि जरूरत हो उस आधार पर उसे कम या ज्यादा किया जाता है. इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सुरक्षा से भी SPG कवर हटाकर CRPF की Z+ कैटेगरी की सुरक्षा दी गई थी.

ऐसी होती है एसपीजी सुरक्षा

एसपीजी काफी प्रशिक्षित इकाई है और यह सभी आधुनिक उपकरणों, वाहनों से लैस है. एसपीजी की टीम में स्नाइपर्स, बम निरोधक विशेषज्ञ भी होते हैं. ये जवान वीवीआईपी की सुरक्षा में उनके साये की तरह उनके साथ रहते हैं. एसपीजी कमांडो के पास अत्याधुनिक रायफल्स, अंधेरे में देख पाने वाले चश्मे, संचार के कई अत्याधुनिक उपकरण, बुलेटप्रूफ जैकेट, ग्लब्स, कोहनी और घुटनों पर लगाने वाले गार्ड भी होते हैं. एसपीजी के पास अत्याधुनिक वाहनों का दस्ता होता है. एसपीजी के पास BMW 7 सीरीज की बख्तरबंद गाड़ियां, रेंज रोवर्स, BMW के एसयूवी, ट्योटा और टाटा के भी बख्तरबंद गाड़िया होती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay