एडवांस्ड सर्च

भारतीय डॉक्‍टरों ने बनाया नया सॉफ्टवेयर, बताएगा डेंगू-मलेरिया में अंतर

भारतीय डॉक्‍टरों ने एक रूसी प्रयोगशाला के सहयोग से एक ऐसे सॉफ्टवेयर को विकसित करने में सफलता हासिल की है जो मलेरिया, डेंगू और अन्य वायरल बुखार में अंतर बता देगा.

Advertisement
aajtak.in
आईएएनएस/[Edited By: दिगपाल सिंह]नई दिल्ली, 06 July 2013
भारतीय डॉक्‍टरों ने बनाया नया सॉफ्टवेयर, बताएगा डेंगू-मलेरिया में अंतर Dengue-Malaria

भारतीय डॉक्‍टरों ने एक रूसी प्रयोगशाला के सहयोग से एक ऐसे सॉफ्टवेयर को विकसित करने में सफलता हासिल की है जो मलेरिया, डेंगू और अन्य वायरल बुखार में अंतर बता देगा. इन सभी रोगों के लक्षण समान होने के कारण इनमें भेद करना बहुत चुनौतीपूर्ण होता था. सॉफ्टवेयर का विकास राजधानी के सर गंगाराम अस्पताल और सेंट पीटर्सबर्ग के लैब टेक लिमिटेड द्वारा किया गया है. उम्मीद है कि इस सॉफ्टवेयर के कारण रोग का जल्द पता चलेगा, इलाज की लागत कम होगी और रोगी को बहुत कम एंटीबायोटिक दवाएं देने की जरूरत होगी.

सर गंगाराम अस्पताल के खून संबंधी रोगों के विभाग की अध्यक्ष मनोरमा भार्गव ने कहा कि डॉक्टरों के सामने मलेरिया और डेंगू को अलग करने में भारी कठिनाई आती थी, क्योंकि दोनों के लक्षण समान हैं.

भार्गव ने कहा कि मानसून और उसके बाद उत्तर भारत में मलेरिया और अन्य वायरल संक्रमण चरम पर होता है. इस समय डेंगू को मलेरिया से अलग करने के लिए काफी अधिक टेस्‍ट किए जाते हैं और उनके परिणाम आने तक दोनों रोगों की दवाएं एक साथ चलाई जाती हैं. इससे इलाज का खर्च बढ़ता है और अनावश्यक एंटीबायोटिक दवाएं देनी होती हैं.

इस संबंध में एक शोध पत्र 15 जून को अंतरराष्ट्रीय जर्नल में प्रकाशित हो चुका है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay