एडवांस्ड सर्च

'खूनी पंजा' वाले बयान पर नरेंद्र मोदी को नोटिस, चुनाव आयोग ने मांगा जवाब

'खूनी पंजा' वाले बयान को लेकर बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा है. चुनाव आयोग ने मोदी को नोटिस का 16 नवंबर तक देने को कहा है.

Advertisement
आज तक ब्यूरो [Edited By: संदीप कुमार सिन्हा]नई दिल्ली, 14 November 2013
'खूनी पंजा' वाले बयान पर नरेंद्र मोदी को नोटिस, चुनाव आयोग ने मांगा जवाब बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी

'खूनी पंजा' वाले बयान को लेकर बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा है. चुनाव आयोग ने मोदी को 16 नवंबर तक जवाब देने को कहा है.

आयोग ने अपने नोटिस में मोदी से पूछा है, 'छत्तीसगढ़ रैली में आपका भाषण पहली नजर में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. आप जवाब दें कि आपके खिलाफ कार्रवाई क्यों न हो.'

छत्तीसगढ़ को खूनी पंजे से बचानाः नरेंद्र मोदी
गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में 7 नवंबर को एक चुनावी रैली के दौरान कहा था, ‘अगर आप चाहते हैं कि छत्तीसगढ़ के ऊपर किसी खूनी पंजे का साया न पड़े तो आप सभी कमल पर बटन दबाना और छत्तीसगढ़ को खूनी पंजे से बचाना.’

इसके बाद कांग्रेस ने मोदी के इस बयान को लेकर निर्वाचन आयोग का दरवाजा खटखटाया और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की. अपनी शिकायत में कांग्रेस के कानूनी और मानवाधिकार विभाग के सचिव के.सी. मित्तल ने कहा था, 'हाथ का पंजा कांग्रेस का चुनाव चिन्ह है. मोदी ने इसे 'खूनी पंजा' कहा. उनकी टिप्पणी आदर्श आचार संहिता के खिलाफ है और अपमानजनक है. मोदी और बीजेपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.'

कांग्रेस ने यह शिकायत ऐसे समय में की थी, जब चंद दिनों पहले बीजेपी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा राजस्थान और मध्य प्रदेश में दिए गए भाषणों के खिलाफ निर्वाचन आयोग में शिकायत की थी. राहुल को उनके आईएसआई वाले बयान के लिए चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा था. राहुल उस पर चुनाव आयोग को जवाब भेज चुके हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay