एडवांस्ड सर्च

साइकिल से दफ्तर पहुंचे डॉ. हर्षवर्धन, संभाला स्वास्थ्य मंत्री का कार्यभार

डॉ. हर्षवर्धन के अलावा हाल ही मोदी सरकार मंत्री में बने मनसुख मांडविया भी साइकिल से सफर करने को लेकर जाने जाते हैं. उन्हें संसद में साइकिल से जाने के लिए जाना जाता है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: देवांग दुबे]नई दिल्ली, 03 June 2019
साइकिल से दफ्तर पहुंचे डॉ. हर्षवर्धन, संभाला स्वास्थ्य मंत्री का कार्यभार साइकिल से दफ्तर जाते डॉ. हर्षवर्धन (फोटो- ANI)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सोमवार को अपना कार्यभार संभाल लिया. डॉ. हर्षवर्धन साइकिल से सवार होकर अपने दफ्तर पहुंचे. दफ्तर में पहुंचने के बाद मंत्रालय के कर्मचारियों ने फूलों का गुलदस्ता भेंटकर उनका स्वागत किया.

बता दें कि आज विश्व साइकिल दिवस है. ऐसे में डॉ. हर्षवर्धन का साइकिल से दफ्तर जाना एक बड़े संदेश के तौर पर देखा जा सकता है. भारतीय राजनीति में डॉ. हर्षवर्धन की पहचान उनकी सादगी के लिए रही है. केंद्र सरकार में मंत्री होते हुए वह अक्सर आम लोगों से मिलते रहते हैं. उनकी सादगी और मैत्रीपूर्ण सरल स्वभाव की सराहना उनके विरोधी भी करते हैं.

डॉ. हर्षवर्धन के अलावा हाल ही मोदी सरकार में मंत्री बने मनसुख मांडविया भी साइकिल से सफर करने को लेकर जाने जाते हैं. उन्हें संसद में साइकिल से जाने के लिए जाना जाता है.

इतना ही नहीं 30 मई को मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में भी वह साइकिल से पहुंचे थे. मांडविया ने साइकिल से शपथ ग्रहण में जाने के बारे में कहा, 'मेरे लिए साइकिल पर शपथ ग्रहण में जाना कोई फैशन नहीं है, बल्कि यह मेरा पैशन है. मैं संसद में हमेशा साइकिल पर सवार होकर जाता रहा हूं. यह पर्यावरण के हित में है. इससे ईंधन की बचत होती है और इससे स्वास्थ्य अच्छा रहता है.'

दोबारा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय बने डॉ. हर्षवर्धन

नाक, कान और गले के डॉक्टर(ENT) से नेता बने डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के इकलौते सांसद हैं, जिन्हें नरेंद्र मोदी सरकार की दूसरी पारी में भी कैबिनेट मंत्री बनने का मौका मिला है. खास बात है कि 2014 में मंत्री बनने के छह महीने में ही जिस मंत्रालय को उनसे छीन लिया गया था, उसे इस बार फिर से हासिल करने में सफल हुए हैं. साथ ही पिछली बार की ही तरह उन्हें विज्ञान और प्रोद्योगिकी, भूविज्ञान मंत्रालय की भी जिम्मेदारी मिली है.

दरअसल, 26 मई 2014 को मोदी सरकार बनने के छह महीने बाद ही नवंबर 2014 में पीएम मोदी ने कैबिनेट में फेरबदल किया था. इस दौरान उन्होंने पेशे से चिकित्सक डॉ. हर्षवर्धन से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय लेकर जेपी नड्डा को दे दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay