एडवांस्ड सर्च

अरुणाचल के छात्र नीडो तानिया की हत्या मामले में तीन गिरफ्तार

अरुणाचल के छात्र नीडो तानिया की हत्या मामले में दिल्ली पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. लाजपत नगर मार्केट में हमले के बाद 19 साल के नीडो की मौत हो गई थी. दिल्ली पुलिस ने घटना की जांच के लिए एसआईटी का भी गठन किया है.

Advertisement
aajtak.in
भाषा [Edited by: कुलदीप मिश्र]नई दिल्ली, 04 February 2014
अरुणाचल के छात्र नीडो तानिया की हत्या मामले में तीन गिरफ्तार नीडो तानिया

अरुणाचल के छात्र नीडो तानिया की हत्या मामले में दिल्ली पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. लाजपत नगर मार्केट में हमले के बाद 19 साल के नीडो की मौत हो गई थी. दिल्ली पुलिस ने घटना की जांच के लिए एसआईटी का भी गठन किया है.

लाजपत नगर में कुछ दुकानदारों ने कथित तौर पर पिछले बुधवार को नीडो तानिया पर हमला किया था. हमले में शामिल संदिग्धों की धर पकड़ के लिए पुलिस की एक टीम उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब रवाना हुई थी. पुलिस के मुताबिक, दक्षिण-पूर्व के पुलिस उपायुक्त पी करुणाकरण की देखरेख में एसआईटी बनाई गई है.

पुलिस ने मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, हमने 6 लोगों की पहचान की है. उनमें से दो नाबालिग हैं. उन्होंने बताया कि तीनों गिरफ्तार आरोपियों की पहचान फरमान (22), सुंदर (27) और पवन (27) के रूप में हुई है.

पुलिस ने दावा किया कि पुलिस थाने से वापस लाने के बाद नीडो को मौका-ए-वारदात पर नहीं छोड़ा गया था और दुकानदारों ने दोबारा छात्र की पिटाई नहीं की थी. पुलिस के मुताबिक, जांच के दौरान सामने आया है कि नीडो तानिया को पीसीआर वैन से थाने लाया गया. वहां से जांच के लिए उसे दो पुलिस अधिकारी मौका-ए-वारदात पर ले गए लेकिन उस पर दोबारा किसी ने हमला नहीं किया.

पुलिस के मुताबिक, दो पुलिस अधिकारी नीडो को वापस पुलिस थाने लाए, बाद में उसे उसके दोस्त विनोद आर बंसल और वरुण के सुपुर्द कर दिया गया. उन्हीं के साथ वह पुलिस थाने से गया था.

तानिया के दोस्त ने आरोप लगाया था कि पिछले बुधवार को उसके बालों को लेकर दुकानदारों ने उस पर छींटाकशी की थी जिसे लेकर झगड़ा हुआ था और कथित तौर पर उन्होंने उसे पीटा भी था. अगले दिन उसे एम्स लाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. बयान में कहा गया है, मामले की गंभीरता को देखते हुए एम्स में फॉरेंसिक जांच के लिए एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है और उसकी रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एम्स के डॉक्टरों के मेडिकल बोर्ड से पोस्टमॉर्टम की अंतिम रिपोर्ट मिलने का इंतजार किया जा राहा है. पुलिस ने बताया कि आईपीसीकी धारा 302 (हत्या) और अनुसूचित जाति, जनजाति अधिनियम 3 और संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

नीडो तानिया की हत्या के बाद दिल्ली के नाम एक खुला खत

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay