एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दिल्ली गैंगरेपः नाबालिग आरोपी पर फैसला टला

राजधानी दिल्‍ली में 16 दिसंबर को चलती बस में मेडिकल छात्रा से हुए गैंगरेप मामले में 6 आरोपियों में से एक नाबालिग आरोपी पर जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने फैसला 25 जुलाई तक के लिए टाल दिया है.
दिल्ली गैंगरेपः नाबालिग आरोपी पर फैसला टला दिल्ली गैंगरेप
आज तक ब्यूरो [Edited By: नमिता शुक्ला]नई दिल्ली, 11 July 2013

राजधानी दिल्‍ली में 16 दिसंबर को चलती बस में मेडिकल छात्रा से हुए गैंगरेप मामले में 6 आरोपियों में से एक नाबालिग आरोपी पर जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने फैसला 25 जुलाई तक के लिए टाल दिया है.

हालांकि लूट के मामले में कोर्ट ने नाबालिग आरोपी पर फैसला दे दिया है. चूंकि आरोपी को नाबालिग माना जा रहा है इसलिए यह फैसला भी सीलबंद लिफाफे में दिया गया है. कोर्ट ने मीडिया और वकीलों से इस बारे में ज्‍यादा जानकारी साझा करने से मना किया है.

दरअसल, नाबालिग आरोपी ने गैंगरेप से पहले पीड़ित लड़की और उसके दोस्‍त का मोबाइल और पर्स छीन लिया था. जिसके बाद आरोपी के खिलाफ रेप के अलावा लूट के तहत भी मामला दर्ज किया गया था. अब 25 जुलाई को रेप और हत्‍या के मामले में नाबालिग आरोपी पर फैसला सुनाया जाएगा.

बाल अपराधी पर पढ़ें इंडिया टुडे की खास रिपोर्ट: कच्ची उम्र के खतरनाक दरिंदे

ट्रायल के बाद बाहर आए वकीलों ने कहा कि इस मामले में जजमेंट ओपन कोर्ट में अनाउंस नहीं किया गया. कोर्ट ने मीडिया को कहा कि आरोपी को जुवेनाइल की तरह ट्रीट किया जाएगा.

सरकारी वकील माधव के मुताबिक, 'नाबालिग आरोपी पर दलीलें आज पूरी हो गईं और अब अंतिम फैसला 25 जुलाई को सुनाया जाएगा.'

क्‍या आरोपी नाबालिग को फांसी की सजा सुनाई जानी चाहिए? अपनी राय देने के लिए यहां क्लिक करें.

दिल्ली गैंगरेप मामले में पूरा देश उबल उठा था. इस मामले में नाबालिग ही सबसे बड़ा हैवान माना जा रहा है. नाबालिग आरोपी पर पीड़ित से दो बार रेप करने का आरोप है. आरोप है कि इस नाबालिग ने बेहोशी की हालत में लड़की से दूसरी बार रेप किया था.

दिल्ली गैंगरेप की शिकार लड़की को आजतक का सलाम.

सबसे घिनौनी करतूत करने वाले को जुवेनाइल बोर्ड भी नाबालिग मान चुका है. घटना के वक्त उसकी उम्र 17 साल, 6 महीने बारह दिन थी.

पीड़ित छात्रा के दोस्त ने सुनाई 'उस' रात की खौफनाक कहानी. आप भी पढ़ें एवं वीडियो देखें.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, नाबालिग ने ही लड़की को बस में बुलाया था. यही नहीं, इसी नाबालिग ने पीड़ित और उसके दोस्त को बस से फेंकने को कहा था. गैंगरेप की शिकार लड़की का दोस्त भी दिल्ली पुलिस के दावों की तस्दीक कर चुका है.  इसके अलावा, पीड़ित लड़की के दोस्त ने पुलिस को बताया था कि लड़की पर लोहे की रॉड से हमला करने में यही नाबालिग आरोपी सबसे आगे आया था.

रेयरेस्ट ऑफ द रेयर की पैरवी
दिल्ली गैंगरेप पर सरकार ने भी सख्त रवैया अपनाया हुआ है. सरकार ने इस केस को रेयरेस्ट ऑफ द रेयर माने जाने की पैरवी की है. उधर, दिल्ली पुलिस नाबालिग की उम्र घटाकर 16 साल कर देने की वकालत कर रही है.

आरोपी मुकेश मुकरा, कहा- मैं गैंगरेप में शामिल नहीं था
वहीं अदालत में बुधवार को दूसरे आरोपी मुकेश की पेशी हुई थी. मुकेश ने गैंगरेप में शामिल होने के आरोप से इनकार किया. मुकेश ने माना कि घटना वाले दिन पीड़ित लड़की अपने दोस्त के साथ बस में चढ़ी थी. मुकेश ने बाकी पांच साथियों को वारदात में शामिल बताया.

अब अदालत बाकी चार आरोपियों से भी पूछताछ करेगी. पूछताछ की फेहरिस्त में मुकेश पहला आरोपी था. दिल्ली गैंगरेप कांड के कुल छह आरोपी हैं. उनमें से एक रामसिंह तिहाड़ जेल में सुसाइड कर चुका है.

पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay