एडवांस्ड सर्च

PAK से तनातनी के बीच बढ़ेगी भारत की सैन्य ताकत, अगले महीने मिलेगा पहला राफेल

पाकिस्तान से जारी तनाव के बीच भारत की सैन्य ताकत में इजाफा होने वाला है. भारत को पहला राफेल विमान 20 सितंबर को मिलने वाला है.

Advertisement
aajtak.in
मंजीत सिंह नेगी नई दिल्ली, 21 August 2019
PAK से तनातनी के बीच बढ़ेगी भारत की सैन्य ताकत, अगले महीने मिलेगा पहला राफेल अगले महीने भारत के पास होगा राफेल विमान (तस्वीर-IANS)

पाकिस्तान से जारी तनाव के बीच भारत की सैन्य ताकत बढ़ने वाली है. भारत को पहला राफेल विमान 20 सितंबर को मिलने वाला है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ फ्रांस में पहला राफेल जेट विमान  लेने जाएंगे.

राजनाथ सिंह और बीएस धनोआ की मौजूदगी में 20 सितंबर को राफेल विमान भारतीय वायुसेना को सौंपे जाएंगे. भारतीय वायुसेना के सूत्रों के मुताबिक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को फ्रांस के अधिकारी वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ और विभिन्न रक्षा अधिकारियों की मौजूदगी में राफेल विमान सौंपेंगे.

सूत्रों के मुताबिक सितंबर के तीसरे सप्ताह में यह प्रक्रिया पूरी होगी. राफेल विमान पारंपरिक रूप से भारत को सौंपा जाएगा. सौंपते वक्त फ्रांस के कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहेंगे.

भारतीय वायुसेना 24 पायलटों को तैयार करेगी जो राफेल विमान को उड़ाने के लिए तैयार हो सकें. ये सभी पायलट तीन अलग-अलग बैच में अपनी ट्रेनिंग खत्म करेंगे. अगले साल मई तक सभी राफेल विमान भारत को सौंप दिए जाएंगे, तब तक इन पायलटों की ट्रेनिंग जारी रहेगी.

भारतीय वायु सेना राफेल लड़ाकू विमान के एक-एक दस्ते को हरियाणा के अंबाला और पश्चिम बंगाल के हाशिमारा में अपने एयरबेस पर तैनात करेगी.

सितंबर 2016 को भारत और फ्रांस के बीच 36 राफेल विमान खरीदने की फाइनल डील पर दस्तखत हुए थे. इन विमानों की कीमत 7.87 बिलियन यूरो रखी गई थी. इस डील के मुताबिक इन विमानों की डिलीवरी सितंबर 2018 से शुरू होने की बात कही गई थी.

भारत ने अपने डील में कहा था कि इन विमानों को जल्द से जल्द तैयार कर लिया जाए. भारत इन सभी विमानों की तैनाती पूर्वी और पश्चिमी फ्रंट पर करेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay