एडवांस्ड सर्च

महाराष्ट्र-गुजरात में निसर्ग तूफान का खतरा, अगले 24 घंटे अहम

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक 3 जून को चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में हरिहरेश्वर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से टकरा सकता है.

Advertisement
aajtak.in
सौरभ वक्तान‍िया मुंबई, 02 June 2020
महाराष्ट्र-गुजरात में निसर्ग तूफान का खतरा, अगले 24 घंटे अहम गुजरात और महाराष्ट्र में निसर्ग चक्रवाती तूफान का खतरा (फोटो-PTI)

  • मुंबई, पालघर, ठाणे भारी बारिश के आसार
  • गुजरात के दक्षिण तट पर भी होगी बारिश

कोरोना वायरस संकट के बीच गुजरात और महाराष्ट्र में निसर्ग चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है. भारतीय मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक 3 जून को चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में हरिहरेश्वर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से टकरा सकता है.

मौसम विभाग के अनुसार 3 जून को मुंबई, पालघर, ठाणे और गुजरात के दक्षिण तट में भारी बारिश के आसार हैं. अरब सागर में बने निम्न दाब के क्षेत्र की वजह से चक्रवात बन सकता है. निसर्ग चक्रवात 2 जून की सुबह तक उत्तर की ओर बढ़ेगा. फिर उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने के बाद हरिहरेश्वर (रायगढ़, महाराष्ट्र) और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से 3 जून की शाम या रात तक टकरा सकता है. हरिहरेश्वर शहर मुंबई और पुणे दोनों से 200 किलोमीटर की दूरी पर और दमन से 360 किलोमीटर की दूरी पर है.

ये भी पढ़ें-अम्फान के बाद निसर्ग चक्रवाती तूफान का खतरा, मचा सकता है तबाही, 3 राज्यों में रेड अलर्ट

बीएमसी ने जारी किया अलर्ट

मुंबई में 3 जून को बड़ा तूफान आने की आशंका है. आज दोपहर से बारिश औऱ तेज हवाओं के साथ इसकी आहट दिखनी शुरू हो जाएगी. बीएमसी ने अपने अधिकारियों से कहा है कि जो नागरिक निचले इलाके या जहां तूफान नुकसान पहुंचा सकता है, ऐसी जगहों में रहते हैं उन्हें स्कूल या किसी सुरक्षित जगह पर ले जाएं. बीएमसी ने लोगों से तूफान के वक्त घर से बाहर निकलने, बिजली के खंभों और पेड़ों के नीचे खड़े होने से मना किया गया है.

बड़ी इंडस्ट्रीज और पेट्रोकेमिकल कंपनियों से भी कहा गया है कि वो तूफान के दौरान अपने मैटीरियल और सिस्टम को सेफ रखने पर ध्यान दें. मुंबई के सभी अस्पतालों को निर्देश दिया गया है कि बिजली जाने की परिस्थिति में वो जेनरेटर तैयार रखें ताकि बिजली सप्लाई ना टूटे.

बहरहाल, महाराष्ट्र और गुजरात सरकार ने चक्रवात निसर्ग को देखते हुए तटीय इलाकों में NDRF की टीमों को तैनात कर दिया है. तूफान के खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र में एनडीआरएफ की 9 टीमों को तैनात किया गया है. एनडीआरएफ की टीमें तूफान के खतरे से निपटने के लिए तैयार हैं. मुंबई में 3 टीमें और पालघर में 2 टीमों को तैनात किया गया है. जबकि ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग में एनडीआरएफ की एक-एक टीम तैनात की गई है. एनडीआरएफ की टीमें स्थानीय अधिकारियों के साथ इन जिलों के तटीय इलाकों में सर्वेक्षण कर रही हैं.

ये भी पढ़ें-महाराष्ट्र-गुजरात में निसर्ग तूफान की दस्तक से NDRF अलर्ट, शाह ने की मुख्यमंत्रियों से बात

अमित शाह ने जानी स्थिति

महाराष्ट्र और गुजरात में 3 जून को संभावित चक्रवात निसर्ग की तैयारियों को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने NDMA, NDRF, IMD और भारतीय तटरक्षक के अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की. चक्रवात निसर्ग के मद्देनजर गृहमंत्री अमित शाह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की और राज्यों की तैयारियों का जायजा लिया. गृहमंत्री ने चक्रवाती तूफान निसर्ग से निपटने के लिए केंद्र की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया.

बता दें कि दक्षिण-पूर्व और इससे सटे पूर्व-मध्य अरब सागर और लक्षद्वीप क्षेत्र में कम दबाव वाला क्षेत्र सोमवार को गहरे डिप्रेशन में बदल गया है. यह आगे और भी उग्र रूप धारण करके दो जून को सुबह के समय चक्रवाती तूफान में बदल सकता है. इसके बाद फिर 3 जून की शाम या रात तक एक गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay