एडवांस्ड सर्च

चक्रवात फानी का कहर, ओडिशा में मरने वालों की संख्या हुई 64

पुरी जिले में सबसे अधिक 39 लोगों की मौत हुई. इसके बाद खुर्दा जिले में नौ, कटक जिले में छह, मयूरभंज में चार, केंद्रपाड़ा और जाजपुर में तीन-तीन लोगों की मौत हुई.

Advertisement
aajtak.in
पुनीत सैनी/ aajtak.in नई दिल्ली, 13 May 2019
चक्रवात फानी का कहर, ओडिशा में मरने वालों की संख्या हुई 64 प्रतीकात्मक तस्वीर

ओडिशा में आए चक्रवात फानी के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 64 हो गई है. राज्य सरकार ने रविवार को 21 और लोगों के मरने की पुष्टि की.अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि तीन मई को 240 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की हवा के साथ आए चक्रवाती तूफान में कम से कम 241 लोग घायल हो गए. शनिवार तक मृतकों की संख्या 43 थी जो अब बढ़कर 64 हो गई.

प्रदेश आपात अभियान केंद्र के अधिकारियों ने बताया कि पुरी जिले में सबसे अधिक 39 लोगों की मौत हुई. इसके बाद खुर्दा जिले में नौ, कटक जिले में छह, मयूरभंज में चार, केंद्रपाड़ा और जाजपुर में तीन-तीन लोगों की मौत हुई.

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने उन सभी परिवारों को पक्के मकान देने की घोषणा की है जिसके चक्रवात में मकान टूट गए थे. टूटने वाले मकानों का मूल्यांकन 15 मई से शुरू हो जो एक हफ्ते में पूरा हो जाएगा. लाभार्थियों को वितरण करने का काम 1 जून से शुरू होगा.

बीमा नियामक इरडा ने बीमा कंपनियों को ओडिशा के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों तथा पड़ोसी राज्यों में सभी दावों (इंश्योरेंस क्लेम) का पंजीकरण सुनिश्चित करने तथा पात्र मामलों को तत्काल निपटाने का आदेश दिया है.

नियामक ने बीमा कंपनियों से सभी दावों का पंजीकरण सुनिश्चित करने तथा पात्र मामलों के त्वरित निपटान के लिये कदम उठाने को कहा है. इरडा ने दावों के निपटान को लेकर सामान्य परिस्थितियों में जरूरी प्रक्रियाओं में स्थिति के अनुसार छूट देने को कहा है. नियामक ने दावों के लिए कार्यालय या विशेष शिविरों के ब्योरे का प्रचार-प्रसार करने को भी कहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay