एडवांस्ड सर्च

तमिलनाडु ने पेश की मिसाल, एक दिन में निपटाए 3.16 लाख केस

देशभर की अदालतों में लंबित करोड़ों मामलों के बीच तमिलनाडु की लोक अदालतों ने एक दिन में तीन लाख से ज्यादा केस निपटाए हैं. इनमें ढाई लाख से ज्यादा केस तो ऐसे थे जो बरसों से लंबित थे.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: विकास वशिष्ठ]चेन्नई, 14 December 2015
तमिलनाडु ने पेश की मिसाल, एक दिन में निपटाए 3.16 लाख केस लाखों केस अब भी लंबित हैं अदालतों में

तमिलनाडु की अदालतों ने देश के लिए मिसाल पेश की है. देशभर में जारी मेगा लोक अदालत मुहिम में जान फूंकते हुए राज्य की अदालतों ने एक दिन में 3.16 लाख केस निपटाए हैं. तमिलनाडु स्टेट लीगल सर्विसेज अथॉरिटी के मुताबिक शनिवार को निपटाए इन मामलों से 342 करोड़ रुपये का सेटलमेंट हुआ.

कई अदालतों में लंबित थे 2.94 लाख केस
तालुक स्तर से लेकर हाई कोर्ट तक ने लोक अदालत में हिस्सा लिया. कुल 447 लोक अदालतें लगीं. इनमें हाई कोर्ट की मदुरै बेंच भी शामिल रही. इन अदालतों ने मामलों की सुनवाई की और सिविल से लेकर दुर्घटना और बैंक से जुड़े कई तरह के केस निपटाए. इन अदालतों में 2.9 लाख केस ऐसे निपटाए गए जो अलग-अलग कोर्ट में लंबित थे.

अब बाढ़ पीड़ितों के लिए लगेंगे स्पेशल कोर्ट
अब चेन्नई बाढ़ पीड़ितों के लिए स्पेशल लोक अदालतें लगेंगी, ताकि लोगों को वोटर आईडी, आधार कार्ड, राशन कार्ड और बाढ़ में बह गए दूसरे जरूरी दस्तावेज दोबारा दिए जा सकें. मद्रास हाई कोर्ट के जज आर. सुधाकर ने कुडालोर जिले के बाढ़ पीड़ितों के लिए बाढ़ रात किट भी दी है. इसमें 40 चीजें हैं, जिनमें 5 किलो चावल और ग्रोसरी का दूसरा सामान है जो 15 दिन तक चल सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay