एडवांस्ड सर्च

कांग्रेस की बैठक में नहीं शामिल हुए राहुल, सोनिया ने नेताओं को दी ये नसीहत

सोनिया गांधी के कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी शामिल नहीं हुए. राहुल के इस बैठक में शामिल नहीं होने पर कांग्रेस की ओर से सफाई भी दी गई.

Advertisement
aajtak.in
मौसमी सिंह नई दिल्ली, 12 September 2019
कांग्रेस की बैठक में नहीं शामिल हुए राहुल, सोनिया ने नेताओं को दी ये नसीहत सोनिया गांधी की अगुवाई वाली कांग्रेस की बैठक में राहुल शामिल नहीं हुए (फोटा-फाइल)

  • राहुल के बैठक में नहीं आने पर कांग्रेस की ओर से दी गई सफाई
  • अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद सोनिया की अगुवाई में अहम बैठक

सोनिया गांधी के कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी शामिल नहीं हुए. जबकि इस बैठक में आगामी 3 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर चर्चा के साथ कई अन्य अहम मामलों पर चर्चा होनी थी. बैठक में राहुल गांधी के नहीं पहुंचने पर कांग्रेस की ओर से सफाई दी गई है.

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. लंबी कवायद के बाद अगला अध्यक्ष चुने जाने तक सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी गई. सोनिया गांधी की अगुवाई में आज गुरुवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई गई.

मनमोहन सिंह भी शामिल हुए

बैठक में सोनिया गांधी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, गुलाम नबी आजाद, केसी वेणुगोपाल, एके एंटनी मौजूद रहे लेकिन राहुल गांधी नहीं शामिल हुए. कांग्रेस की अहम बैठक में उनके शामिल नहीं होने पर कांग्रेस की ओर से सफाई दी गई. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री आरपीएन सिंह ने कहा कि राहुल गांधी पार्टी की बैठक में शामिल नहीं हुए. यह बैठक महासचिवों, प्रभारी महासचिवों और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों की बैठक थी.

सोनिया की नेताओं को नसीहत

बैठक में सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं को नसीहत देते हुए कहा कि नेताओं को सीधे लोगों से जुड़ना चाहिए. उन्हें सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव होने और आक्रामक होने की जरुरत नहीं है. उन्होंने नेताओं से आग्रह किया कि लोगों से जुड़े मुद्दों को लेकर सड़क पर उतरें और लोगों के बीच पकड़ बनाएं. साथ ही सोनिया ने पार्टी के नेताओं से कहा कि जिन राज्यों में पार्टी सत्ता में है वहां पर मैनिफेस्टो में किए वादों को पूरा किया जाए.

हालांकि इस बैठक में अगले कुछ महीनों में तीन राज्यों (महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड) में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनाई जाने को लेकर भी चर्चा हुई.

सोनिया गांधी के फिर से पार्टी की कमान संभालने के बाद उनकी अगुवाई में कांग्रेस की यह पहली बड़ी बैठक रही. इससे पहले सोनिया ने बुधवार को दिल्ली में पार्टी की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड़ के साथ बैठक की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay