एडवांस्ड सर्च

50 घंटे बाद भी नहीं चला AN-32 विमान का पता, कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने लापता एएन-32 विमान को लेकर मोदी सरकार और रक्षा मंत्रालय हमला बोला है. उन्होंने मोदी सरकार से पूछा कि जब भारतीय वायुसेना के पास अच्छे विमान हैं, तो इतने खतरनाक इलाके में एएन-32 को ही क्यों उड़ाया गया? मोदी सरकार एएन-32 विमानों को बदलने के लिए रक्षा मंत्रालय को पर्याप्त बजट क्यों नहीं आवंटित कर रही है?

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 05 June 2019
50 घंटे बाद भी नहीं चला AN-32 विमान का पता, कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा सांकेतिक तस्वीर (Courtesy- Reuters)

भारतीय वायुसेना के लापता विमान एएन-32 का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है, जिसको लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार और रक्षा मंत्रालय पर करारा हमला बोला है. कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एएन-32 विमान को लेकर मोदी सरकार और रक्षा मंत्रालय पर तीन सवाल दागे हैं. उन्होंने पूछा कि जब भारतीय वायुसेना के पास अच्छे विमान हैं, तो इतने खतरनाक इलाके में एएन-32 को ही क्यों उड़ाया गया? मोदी सरकार एएन-32 विमानों को बदलने के लिए रक्षा मंत्रालय को पर्याप्त बजट क्यों नहीं आवंटित कर रही है?

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इसी तरह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह जाने के दौरान एक एएन-32 विमान लापता हो गया था, जिसका आजतक कोई सुराग नहीं मिला. इसके बावजूद रक्षा मंत्रालय ने कोई ठोस कदम क्यों नहीं उठाया?

कांग्रेस  प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय वायुसेना के लापता एएन-32 विमान में एसओएस सिग्नल यूनिट 14 साल पुरानी लगी थी. सुरजेवाला ने पूछा कि जब साल 2009 में भारत और यूक्रेन के बीच एएन-32 विमानों के अपग्रेडेशन के लिए करार हो चका है, तो इनको अब तक अपग्रेड क्यों नहीं किया गया?

randip_060519050013.jpg

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार और रक्षा मंत्रालय को इन सवालों के जवाब हरहाल में देना चाहिए. कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने लापता एएन-32 विमान में सवाल भारतीय वायुसेना के कर्मचारियों और चालक दल के सदस्यों की सलामती के लिए दुआएं भी की है. आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना के एएन-32 विमान ने असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के लिए उड़ान भरी थी और लापता हो गया था. करीब 50 घंटे से ज्यादा का समय गुजर चुका है, लेकिन अभी तक इस विमान का कोई सुराग नहीं मिला है.

इस विमान का पता लगाने के लिए व्यापक स्तर पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. इस अभियान में भारतीय वायुसेना के विमान और हेलिकॉप्टर के बेड़े लगे हुए हैं. एमआई हेलिकॉप्टर, सी-130 जे और सुखोई विमान लगातार तलाशी अभियान चला रहे हैं. इसके अलावा भारतीय वायुसेना के समुद्री जहाज भी आसपास के इलाके में खोजबीन कर रहे हैं. इसरो के RISAT यानी रडार इमेजिंग सैटेलाइट और सेना की भी मदद ली जा रही है.

आपको बता दें कि एएन-32 विमान एक ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है, जिसको रूस से लिया गया था. यह विमान कठिन परिस्थितियों में अपनी बेहतरीन उड़ान भरने की क्षमता के लिए जाना जाता रहा है.

लापता विमान के पायलट के परिजन परेशान

भारतीय वायुसेना के लापता एएन-32 विमान को पायलट आशीष तंवर उड़ा रहे थे. हरियाणा के पलवल निवासी आशीष की पत्नी संध्या तंवर और बहन भी भारतीय वायुसेना में तैनात हैं. जब आशीष तंवर ने विमान को लेकर असम के जोरहाट से उड़ान भरी, उस समय उनकी पत्नी संध्या तंवर वहां एयर ट्रैफिक कंट्रोल में ड्यूटी पर थीं. आशीष तंवर अपनी पत्नी संध्या तंवर के साथ 18 मई को ही छुट्टी बिताकर ड्यूटी ज्वाइन की थी.

जब से एएन-32 विमान के लापता होने की खबर फैली है, तब से आशीष के घर पर आने वाले लोगों का तांता लगा हुआ है. इस विमान में भारतीय वायुसेना के फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग भी सवार हैं. पंजाब के पटियाला निवाली 27 वर्षीय मोहित गर्ग के लापता होने के बाद से परिजन परेशान हैं और लगातार उनकी जानकारी ले रहे हैं.

(इनपुट- तनसीम हैदर)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay