एडवांस्ड सर्च

कोयला खान नीलामी: सरकार ने जिंदल स्टील, बाल्को की बोलियां खारिज कीं

सरकार ने हाल ही में हुई कोयला ब्लॉकों की नीलामी में साठ-गांठ की अटकलों के बीच जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड और बाल्को की बोलियां खारिज कर दी हैं. सरकार हाल ही में नीलाम किए गए नौ कोयला ब्लॉकों की बोलियों का पुन: परीक्षण कर रही थी. इनमें वह ब्लॉक भी शामिल हैं, जहां जिंदल स्टील एंड पावर और बाल्को सबसे अधिक बोली लगाने वालों के रूप में उभरी.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: नंदलाल शर्मा]नई दिल्ली, 21 March 2015
कोयला खान नीलामी: सरकार ने जिंदल स्टील, बाल्को की बोलियां खारिज कीं Symbolic Image

सरकार ने हाल ही में हुई कोयला ब्लॉकों की नीलामी में साठ-गांठ की अटकलों के बीच जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड और बाल्को की बोलियां खारिज कर दी हैं. सरकार हाल ही में नीलाम किए गए नौ कोयला ब्लॉकों की बोलियों का पुन: परीक्षण कर रही थी. इनमें वह ब्लॉक भी शामिल हैं, जहां जिंदल स्टील एंड पावर और बाल्को सबसे अधिक बोली लगाने वालों के रूप में उभरी.

कोयला सचिव अनिल स्वरूप ने देर रात ट्वीट कर कहा, सरकार ने नौ कोयला ब्लॉकों की बोलियों के सिलसिले में निर्णय लिया. उन्होंने लिखा, गेयर पाल्मा 4.1, 4.2 और 4.3 और तारा कोयला ब्लॉकों की बोलियां स्वीकार नहीं की गईं. जिंदल पावर गेयर पाल्मा 4.2, गेयर पाल्मा 4.3 और तारा कोयला ब्लॉकों के लिए जबकि भारत अल्युमीनियम कंपनी (बाल्को) गेयर पाल्मा 4.1 कोयला ब्लॉक के लिए सबसे अधिक बोली लगाने वाली कंपनियों के रूप में उभरी थीं.

 

स्वरूप ने ट्वीट किया कि पांच कोयला ब्लॉकों के लिए बोलियां स्वीकार कर ली गई हैं. उन्होंने पहले कहा था कि सरकार इस समय साठ-गांठ वाले पहलू पर ध्यान नहीं दे रही.

- इनपुट भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay