एडवांस्ड सर्च

ISI के साथ मिलकर भारतीय सीमा पर जासूसी कर रहा है चीन

चीनी जासूस खुद को सेना का ऑफिसर बताते हुए जानकारी हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं. यह भी पता चला है कि इस काम में चीनी जासूस आईएसआई की मदद ले रहे हैं.

Advertisement
अशरफ वानी [Edited By: ब्रजेश मिश्र]श्रीनगर, 18 May 2016
ISI के साथ मिलकर भारतीय सीमा पर जासूसी कर रहा है चीन

कई साल से भारतीय सीमा पर घुसपैठ कर रही चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने जासूसी के लिए नया तरीका अपनाया है. सीमावर्ती इलाकों में चीनी जासूसों ने भारतीय सेना की पोजीशन जानने के लिए स्थानीय लोगों को फोन करना शुरू किया है.

सूत्रों के मुताबिक, चीनी जासूस खुद को सेना का ऑफिसर बताते हुए जानकारी हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं. यह भी पता चला है कि इस काम में चीनी जासूस आईएसआई की मदद ले रहे हैं.

खुद को बताया खुफिया अधिकारी
जम्मू-कश्मीर के लेह-लद्दाख में सीमा के पास वाले इलाकों में रहने वाले लोगों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि उन्हें लगातार ऐसे फोन आ रहे हैं. बीते सप्ताह एक गांव के सरपंच दोर्जे स्टैंजिन के पास भी ऐसा ही फोन आया. फोन करने वाले ने खुद को खुफिया अधिकारी बताते हुए यह पूछा कि इलाके में कौन सी रेजीमेंट मूव कर रही है और वहां सड़क निर्माण प्रोजेक्ट कैसे चल रहा है?

गांव में और भी लोगों के पास आया फोन
फोन करने वाले पर शक हुआ तो सरपंच ने उसे संबंधित अधिकारियों से बात करने की सलाह दी. उन्होंने बाद में अधिकारियों को इसकी जानकारी दी जिससे पता चला कि फोन किसी कंप्यूटर के जरिए किया था. सरपंच की शिकायत के बाद पता कि गांव में और भी लोगों के पास ऐसे फोन आ रहे हैं.

जांच में जुटीं सुरक्षा एजेंसियां
सीमावर्ती इलाकों में ऐसे घटना सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने पड़ताल शुरू कर दी है. एजेंसियां फोन करने वालों के नाम, पोन नंबर और क्या जानकारियां मांगी जा रही हैं, इसका ब्यौरा तैयार करने में जुट गई हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay