एडवांस्ड सर्च

चेन्नई की बुझेगी प्यास, आज पानी लेकर वेल्लोर से पहुंची पहली ट्रेन

पानी की किल्लत से जूझ रही चेन्नई के लिए अच्छी खबर है. वेल्लोर के जोनलपेट से 10 एमएलडी पानी लेकर ट्रेन आज यानी शुक्रवार को चेन्नई पहुंची. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने कहा था कि मानसून शुरू होने तक वेल्लोर से चेन्नई तक रोजाना 65 करोड़ रुपये का पानी लाया जाएगा. एआईएडीएमके सरकार के इस फैसले का डीएमके नेता एमके स्टालिन ने भी स्वागत किया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in चेन्नई, 12 July 2019
चेन्नई की बुझेगी प्यास, आज पानी लेकर वेल्लोर से पहुंची पहली ट्रेन चेन्नई में पानी का संकट (फोटो-ANI)

पानी की किल्लत से जूझ रही चेन्नई के लिए अच्छी खबर है. वेल्लोर के जोनलपेट से 10 एमएलडी पानी लेकर ट्रेन आज यानी शुक्रवार को चेन्नई पहुंची. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने कहा था कि मानसून शुरू होने तक वेल्लोर से चेन्नई तक रोजाना 65 करोड़ रुपये का पानी लाया जाएगा. एआईएडीएमके सरकार के इस फैसले का डीएमके नेता एमके स्टालिन ने भी स्वागत किया है.

गौरतलब है कि चेन्नई में पानी का भयानक संकट चल रहा है. यहां पर भूजल लगातार खत्म होता जा रहा है, जलाशय सूख रहे हैं. जिसकी वजह से पीने के पानी का संकट सामने आया है, करीब 15 दिनों से लोगों को टैंकर के जरिए पानी पहुंचाया जा रहा है. सैटेलाइट के जरिए जो तस्वीरें, वीडियो सामने आ रहे हैं उसने हर किसी का ध्यान खींचा है.

हॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता लियानार्डो डिकैप्रियो ने भी सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर चेन्नई जल संकट पर चिंता जताई थी. उन्होंने पोस्ट किया था कि चेन्नई को अब सिर्फ बारिश ही बचा सकती है. चेन्नई में पानी संकट की स्थिति गंभीरता को इससे समझा जा सकता है कि राजनीतिक दलों को भी सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करना पड़ा.

चेन्नई में पानी संकट का हाल यह है कि लोगों को अपने रोजमर्रा के काम के लिए पानी के निजी टैंकरों का सहारा लेना पड़ता है. अब इन निजी टैंकरों के लिए लोगों को दोगुने पैसे देने पड़ेंगे, निजी जल टैंकर संघ का कहना है कि पैसा बढ़ना जायज है क्योंकि उन्हें पानी भरने के लिए दूर-दूर तक जाना पड़ता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay