एडवांस्ड सर्च

किरण मजूमदार पर BJP का तंज, कहा- मोदी से कुछ कॉरपोरेट घराने घबराने लगे हैं

बीजेपी के आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने कहा कि मोदी सरकार एक सत्तावादी सरकार नहीं है और यह आरोप कि वह किसी भी तरह की आलोचना को स्वीकार नहीं करती है तो ये गलत है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 02 December 2019
किरण मजूमदार पर BJP का तंज, कहा- मोदी से कुछ कॉरपोरेट घराने घबराने लगे हैं बायोकॉन की मैनेजिंग डायरेक्टर किरण मजूमदार शॉ (पीटीआई)

  • बीजेपी के आईटी सेल केे हेड अमित मालवीय ने घेरा
  • मालवीय बोले- कॉरपोरेट घराने विशेषाधिकार चाहते हैं

देश के माने-जाने बिजनेसमैन राहुल बजाज का समर्थन करने वाली बायोकॉन की मैनेजिंग डायरेक्टर किरण मजूमदार शॉ को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने आड़े हाथों लिया है. इंडिया टुडे से बात करते हुए बीजेपी के आईटी सेल हेड अमित मालवीय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद से कुछ कॉरपोरेट घराने घबरा रहे हैं क्योंकि उनके विशेषाधिकार खत्म हो गए हैं.  

किरण मजूमदार शॉ ने कहा था कि उम्मीद है कि सरकार खपत और ग्रोथ को पटरी पर लाने के लिए भारतीय उद्योग जगत से संपर्क साधेगी. अभी तक हम सभी से दूरी बनाकर रखा जा रहा है और सरकार अर्थव्यवस्था को लेकर कोई आलोचना सुनना नहीं चाहती है.

kiran-tweet_120219094728.jpg

आगे अमित मालवीय ने कहा कि मोदी सरकार एक सत्तावादी सरकार नहीं है और यह आरोप कि वह किसी भी तरह की आलोचना को स्वीकार नहीं करती है तो ये गलत है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के सत्ता में आने के बाद से ही आरोप लगाए गए हैं क्योंकि पहले की शासन नीतियां कुछ कॉरपोरेट घरानों को लाभ पहुंचाने के लिए बनाई गई थीं. नीतियां इस बात पर बनी थीं कि कुछ कॉरपोरेट घराने किस तरह से उन्हें चाहते थे. उन्होंने कहा कि बैंक लोन अंधाधुंध दिए गए थे. पीएम मोदी का शासन एक निष्पक्ष और न्यायसंगत शासन रहा है, जहां हर कोई उस नीति के मुताबिक अपना व्यवसाय चलाता है.

सभी ने एक ही रास्ते को नहीं अपनायाः किरण शॉ

उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी सरकार के आने के बाद बहुत बदलाव हुए हैं. कॉरपोरेट घराने विशेषाधिकार चाहते हैं, जिसके लिए हम तैयार नहीं हैं. हम चाहते हैं कि हर कोई महसूस करे कि यह उनकी सरकार है. अमित मालवीय के बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए, किरण शॉ ने कहा कि वह इस बात से सहमत हैं कि कुछ कॉरपोरेट घरानों ने पिछली सरकार का अनुचित लाभ उठाया, लेकिन सभी ने एक ही रास्ते को नहीं अपनाया. 

क्या था पूरा मामला

हाल ही में एक कार्यक्रम में भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की ओर से नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहने का मामला उठा था. इस पर राहुल बजाज ने गृहमंत्री अमित शाह से कहा था कि साध्वी प्रज्ञा को पहले तो टिकट दिया गया, फिर जब वो चुनाव जीतकर आईं तो उन्हें डिफेंस कमेटी में लिया गया. ये माहौल जरूर हमारे मन में है, लेकिन इसके बारे में कोई बोलेगा नहीं.' राहुल बजाज ने कहा, 'आप अच्छा काम कर रहे हैं उसके बाद भी हम खुले रूप से आपकी आलोचना करें. विश्वास नहीं है कि आप इसकी सराहना करेंगे. हो सकता है कि मैं गलत होऊं.' इस पूरे मसले के बाद किरण मजूमदार शॉ ने राहुल बजाज का समर्थन किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay