एडवांस्ड सर्च

लॉकडाउन के कारण फंसे मजदूर, ममता ने 18 राज्यों के CM को लिखा खत

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल के कई मजदूर देश के अलग-अलग राज्यों में काम के सिलसिले में हैं. लॉकडाउन के कारण वे वापस अपने राज्य नहीं आ सकते. मैं आपसे उनकी मदद करने की गुजारिश करती हूं.

Advertisement
aajtak.in
इंद्रजीत कुंडू कोलकाता, 26 March 2020
लॉकडाउन के कारण फंसे मजदूर, ममता ने 18 राज्यों के CM को लिखा खत पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

  • ममता बनर्जी ने 18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को लिखी चिट्ठी
  • लॉकडाउन के कारण कई मजदूर अलग-अलग शहरों में फंसे

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा है. उन्होंने अलग-अलग राज्यों में फंसे बंगाल के मजूदरों को मदद देने की अपील की है. दरअसल, मंगलवार को लॉकडाउन की घोषणा के बाद कई मजदूर अपने घरों से दूर अलग-अलग राज्यों में फंस गए हैं. मजदूरों की मदद के लिए उन्होंने ये पत्र लिखा है.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल के कई मजदूर देश के अलग-अलग राज्यों में काम के सिलसिले में हैं. लॉकडाउन के कारण वे वापस अपने राज्य वापस नहीं आ सकते.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

ममता बनर्जी ने लिखा है कि हमें सूचना मिली है कि बंगाल के कई लोग आपके राज्य (महाराष्ट्र) में भी फंसे हैं. हमें उनकी कॉल मिल रही है. वे 50 से 100 की संख्या में हैं. जैसा कि हम उनकी मदद के लिए नहीं पहुंच सकते हैं, ऐसे में मैं आपसे उनकी मदद करने की गुजारिश करती हूं. संकट के इस दौर में आप उन्हें शरण, खाना और स्वास्थ्य सुविधा देने का कष्ट करें.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

बिहार के सीएम किया राहत पैकेज का ऐलान

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने रास्ते में फंसे मजदूरों के लिए राहत पैकेज का ऐलान किया है. उन्होंने मुख्यमंत्री राहत कोष से 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री ने कहा, 'वैसे बिहार के लोग जो लॉकडाउन की वजह से दूसरे राज्यों में फंसे हैं उनको लेकर राज्य सरकार ने विशेष योजना तैयार की है. जो भी लोग जहां फंस गए हैं, उनको वहां पर ही रखकर खाने-पीने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी.'

बता दें कि कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन तो कर दिया गया है. लेकिन इस वजह से कई दिहाड़ी मजदूर रास्ते में ही फंस गए हैं. समस्या यह है कि उन्हें रहने, खाने-पीने या यातायात की व्वस्था नहीं मिल पा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay