एडवांस्ड सर्च

स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी एस श्रीसंत पर बीसीसीआई ने लाइफ बैन लगाया

इंडियन प्रीमियर लीग में स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी गेंदबाज एस श्रीसंत पर बीसीसीआई ने लाइफ बैन लगा दिया है. यह फैसला शुक्रवार को बीसीसीआई की अनुशासन समिति की बैठक में लिया गया.

Advertisement
aajtak.in
आज तक ब्‍यूरो[Edited By: संदीप कुमार सिन्‍हा]नई दिल्‍ली, 14 September 2013
स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी एस श्रीसंत पर बीसीसीआई ने लाइफ बैन लगाया एस श्रीसंत

इंडियन प्रीमियर लीग में स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी गेंदबाज एस श्रीसंत पर बीसीसीआई ने लाइफ बैन लगा दिया है. यह फैसला शुक्रवार को बीसीसीआई की अनुशासन समिति की बैठक में लिया गया.

बोर्ड ने अंकित चव्हाण पर भी आजीवन प्रतिबंध लगाने का फैसला किया. उल्लेखनीय है कि श्रीसंत सहित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स के चार खिलाड़ी रवि सावानी के नेतृत्व वाली जांच समिति द्वारा स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाए गए. इन खिलाड़ियों में श्रीसंत के अलावा अजीत चंदीला, चव्हाण और अमित सिंह शामिल हैं.

बोर्ड की अनुशासनात्मक समिति ने सावानी के रिपोर्ट के आधार पर इन खिलाड़ियों के खिलाफ सजा तय की. बीसीसीआई की भ्रष्टाचार निरोधी इकाई के प्रमुख सावानी ने अपनी रिपोर्ट में इन चार खिलाड़ियों को 'मैच फिक्सिंग' और 'स्पॉट फिक्सिंग' का दोषी बताते हुए इन पर पांच साल से लेकर आजीवन प्रतिबंध लगाने की बात कही थी.

एस श्रीसंत का करियर
एस श्रीसंत ने टेस्ट करियर में 27 मैंचों में 37.59 की औसत से 87 विकेट झटके हैं, वहीं उन्होंने 53 मैचों में 75 विकेट हासिल किया. एस श्रीसंत ने अपना आखिरी टेस्ट मैच 2011 में इंग्लैंड के ओवल मैदान में खेला था और आखिरी वनडे श्रीलंका के खिलाफ 2011 में ही नागपुर के मैदान पर खेला था.

गौरतलब है कि श्रीसंत सहित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स के चार खिलाड़ी, रवि सवानी के नेतृत्व वाली जांच समिति द्वारा स्पॉट फिक्सिंग के दोषी पाए गए थे. इन खिलाड़ियों में श्रीसंत के अलावा अजीत चंदीला, अंकित चव्हाण और अमित सिंह शामिल हैं. बोर्ड की अनुशासन समिति सवानी के रिपोर्ट के आधार पर इन खिलाड़ियों के खिलाफ सजा तय की.

बीसीसीआई की भ्रष्टाचार निरोधी इकाई के प्रमुख सवानी ने अपनी रिपोर्ट में इन चार खिलाड़ियों को 'मैच फिक्सिंग' और 'स्पॉट फिक्सिंग' का दोषी बताते हुए इन पर पांच साल से लेकर आजीवन प्रतिबंध लगाने की बात कही थी.

इसी मामले में सवानी ने राजस्थान रॉयल्स के ही सिद्धार्थ त्रिवेदी और हरमीत सिंह को भी दोषी पाया है. रिपोर्ट के मुताबिक त्रिवेदी और सिंह को सटोरियों द्वारा संपर्क किए जाने के बाद इस मामले की जानकारी बोर्ड को नहीं देने का दोषी पाया है. इन दोनों के खिलाफ भी एक से पांच साल के प्रतिबंध की बात कही गई है.

सवानी ने अपनी अंतरिम रिपोर्ट जून की शुरुआत में दिल्ली पुलिस द्वारा जुटाए गए सबूतों के आधार पर तैयार की थी.

गौरतलब है कि आईपीएल-6 के दौरान दिल्ली पुलिस ने श्रीसंत और चंदीला सहित चार खिलाड़ियों को स्पॉट फिक्सिंग मामले में गिरफ्तार किया था. इसके अलावा इस मामले में 20 से अधिक सटोरियों को भी गिरफ्तार किया गया था. इनमें से अधिकांश को जमानत मिल गई लेकिन चंदीला अभी भी दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay