एडवांस्ड सर्च

बाबरी मस्जिद केस में CBI पर सवाल उठाना कटियार को पड़ा महंगा, पार्टी ने किया तलब

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर विनय कटियार के बयान से उनकी पार्टी बीजेपी नाराज़ बताई जा रही है. कटियार ने बाबरी मामले में CBI की सक्रियता को लेकर अपनी ही सरकार को निशाने पर लिया था.

Advertisement
aajtak.in
हिमांशु मिश्रा नई दिल्ली, 24 April 2017
बाबरी मस्जिद केस में CBI पर सवाल उठाना कटियार को पड़ा महंगा, पार्टी ने किया तलब विनय कटियार

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर विनय कटियार के बयान से उनकी पार्टी बीजेपी नाराज़ बताई जा रही है. कटियार ने बाबरी मामले में CBI की सक्रियता को लेकर अपनी ही सरकार को निशाने पर लिया था.

सूत्रों के मुताबिक, BJP महासचिव राम लाल ने इस मामले में विनय कटियार को तलब किया. राम लाल ने कटियार से कहा कि उन्हें विवादित बयान देने से बचना चाहिए.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और विनय कटियार सहित पार्टी के 13 नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश का मुकदमा चलाने की CBI की याचिका को स्वीकार कर लिया. इस पर कटियार ने कहा था कि CBI ने साजिश रची है, वह छुट्टा सांड़ है. कम से कम हमारी सरकार में तो खुला सांड़ हो गया है CBI.'

इसके साथ ही कटियार ने आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के उस बयान का भी समर्थन किया था, जिसमें उन्होंने आडवाणी के खिलाफ मुकदमा चलाए जाने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साजिश करार दिया था. उन्होंने कहा था कि नरेंद्र मोदी ने आडवाणी के खिलाफ राजनीतिक साजिश रची है, ताकि वह राष्ट्रपति पद की रेस से बाहर हो जाए.

इस बीच राम मंदिर विध्वंस मामले के आरोपियों में शामिल VHP के अंतरराष्ट्रिय महासचिव चंपत राय और वीएचपी के अधिकारी दिनेश कुमार ने कटियार से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में राम मंदिर मामले में भविष्य की रणनीति पर चर्चा की गई. इससे पहले इन दोनों वीएचपी नेताओं ने बुधवार को मुरली मनहोर जोशी से मुलाकात कर केस पर आगे की चर्चा थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay