एडवांस्ड सर्च

आर्थिक मंदी के बीच बोले रामदेव- महंगाई और रोजगार पर काम करे सरकार

योग गुरु से बिजनेसमैन बने बाबा रामदेव ने शुक्रवार को साल 2020 की चुनौतियों पर बात की. नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले पर देश में जारी आंदोलन पर भी रामदेव ने अपने विचार खुलकर रखे.

Advertisement
aajtak.in
अशोक सिंघल नई दिल्ली, 24 January 2020
आर्थिक मंदी के बीच बोले रामदेव- महंगाई और रोजगार पर काम करे सरकार योग गुरु रामदेव

  • योगगुरु रामदेव की प्रेस कॉन्फ्रेंस
  • रोजगार पर काम करे सरकार: रामदेव
  • ‘प्रदर्शन में आजादी के नारे लगाना गलत’

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर विपक्ष केंद्र सरकार को लगातार निशाने पर ले रहा है. इस बीच योग गुरु रामदेव ने शुक्रवार को बयान दिया है कि सरकार को महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करना चाहिए. योग गुरु रामदेव ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साल 2020 के लिए अपने एजेंडे को सामने रखा.

बता दें कि आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार को लगातार झटके पर झटके लग रहे हैं. दुनिया की कई बड़ी एजेंसियों ने भारत की GDP के अनुमान को घटाया है. भारत की जीडीपी एक वक्त लगातार 7% से तेज चल रही थी, वो अनुमान अब 5% के नीचे चला गया है.

..और क्या बोले रामदेव?

इस दौरान उन्होंने देश में जारी कई प्रदर्शनों के मसले पर अपनी बात रखी. योगगुरु ने कहा कि जो भी प्रदर्शन के दौरान आजादी के नारे लगा रहे हैं, वो पूरी तरह से गलत है. ये देश हर किसी का है.

रामदेव ने कहा कि अभी देश में महंगाई और बेरोजगारी पर काम करना जरूरी है. विपक्ष को देश का फायदा देखना चाहिए और हर मुद्दे में राजनीति नहीं करनी चाहिए. एक वक्त था जब देश में लाखों-करोड़ों रुपये के घोटाले भी हुए हैं लेकिन हमें इसपर ध्यान देना होगा.

योगगुरु रामदेव ने कहा कि मलेशिया, इंडोनेशिया जैसे देशों ने भारत को लेकर गलत बयान दिए, इसी वजह से भारत सरकार ने सख्त कार्रवाई की. आज भी देश में 50 हजार करोड़ से अधिक का निवेश विदेशी कंपनियों का है. रामदेव ने कहा कि शिक्षा, व्यापार और संस्कृति के क्षेत्रों में अभी भी हम गुलामी का शिकार हो रहे हैं.

जनसंख्या नियंत्रण के मसले पर उन्होंने कहा कि देश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कदम बढ़ाने चाहिए क्योंकि जमीन या रिसॉर्स को बढ़ाना तो संभव नहीं है.

इसे भी पढ़ें... बाबा रामदेव बोले- बढ़ती आबादी बम से ज्यादा विस्फोटक

CAA के मसले पर क्या बोले रामदेव?

नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले पर रामदेव बोले कि प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने कई बार इस पर बात की है. दोनों ने बताया है कि इससे देश के नागरिकों को कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग अल्पसंख्यकों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं. CAA पर जो प्रदर्शन हो रहा है उसमें कुछ राजनीतिक पार्टियों और विदेशियों का हाथ है, ताकि देश में हिंसा जैसा माहौल पैदा हो जाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay