एडवांस्ड सर्च

पुण्यतिथि: पीएम मोदी-अमित शाह समेत कई हस्तियों ने दी वाजपेयी को श्रद्धांजलि

वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई दिग्गजों ने उनकी समाधि सदैव अटल पहुंच कर श्रद्धासुमन अर्पित किए. वहीं ट्विटर पर भी कई हस्तियों ने ट्वीट कर पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 16 August 2019
पुण्यतिथि: पीएम मोदी-अमित शाह समेत कई हस्तियों ने दी वाजपेयी को श्रद्धांजलि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (फोटोः ट्विटर)

भारतीय राजनीति के अटल पुरुष और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया था. वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई दिग्गजों ने वाजपेयी की समाधि सदैव अटल पहुंच कर श्रद्धासुमन अर्पित किए. वहीं ट्विटर पर भी उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू समेत कई हस्तियों ने ट्वीट कर पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

भारतीय जनता पार्टी के ट्विटर हैंडल से एक के बाद कई ट्वीट किए गए हैं. पार्टी की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री की कई कविताओं के साथ ही कुछ वीडियो भी ट्वीट कर पूर्व प्रधानमंत्री और भाजपा के स्तंभ रहे वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की गई है.

गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर वाजपेयी को व्यक्ति नहीं, विचार बताया है. शाह ने लिखा है कि मूल्यों और आदर्श आधारित राजनीति से भारत में विकास और सुशासन के युग की शुरुआत करने वाले जन-जन के प्रिय भारत रत्न आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयीजी की पुण्यतिथि पर उन्हें कोटि-कोटि वंदन. वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने ट्वीट कर उन्हें भारतीय लोकतंत्र की उत्कृष्ट परंपराओं का प्रेरणा पुंज बताया है. उपराष्ट्रपति ने कहा है कि अटलजी लोकतंत्र की सात्विक मर्यादाओं के मूर्त रूप थे. देश अपने मानवतावादी युगद्रष्टा नेता, सहृदय और ओजस्वी शब्द शिल्पी को कृतज्ञतापूर्वक स्मरण करता रहेगा.

भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि अटलजी भारतीय राजनीति के ऐसे युगपुरुष थे, जिन्होंने मूल्यों एवं आदर्शों के साथ शुचिता एवं सुशासन की राजनीति को बढ़ावा दिया.

गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया था. उन्होंने 1999 से 2004 के बीच छोटे-छोटे दलों के साथ गठबंधन कर सफलतापूर्वक सरकार चलाई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay