एडवांस्ड सर्च

असम में प्रदर्शनकारियों से झड़प में 8 पुलिसकर्मी समेत 18 लोग घायल

Assam में चाय बागान के मालिकों ने प्राथिमिकी दर्ज कराई थी कि श्रमिक अवैध रूप से चाय की पत्तियां तोड़ रहे हैं और उन्हें बेच रहे हैं. बोगीढोला चाय उद्यान में 14 दिसंबर, 2017 से तालाबंदी घोषित है. पारिश्रमिक संबंधी मुद्दों पर एक प्रदर्शन के दौरान श्रमिकों पर कथित रुप से गोलियां चलाने को लेकर इस उद्यान के मालिकों को गिरफ्तार कर लिया गया था.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 03 January 2019
असम में प्रदर्शनकारियों से झड़प में 8 पुलिसकर्मी समेत 18 लोग घायल सांकेतिक तस्वीर (रॉयटर्स)

असम के गोलाघाट जिले में गुरुवार को प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच झड़प हो जाने से कम से कम आठ पुलिसकर्मी और एक चाय बागान के दस श्रमिक घायल हो गए. बोगीढोला टी एस्टेट के करीब 300 श्रमिकों ने अपने सहकर्मियों को बिना शर्त रिहा किए जाने की मांग को लेकर सड़क जाम कर दी थी. इस चाय बागान में तालाबंदी घोषित कर दी गई थी.

नुमलीगढ़ पुलिस चौकी के प्रभारी प्रणजीत बोरा ने बताया कि बागान में संबंधित अधिकारियों की इजाजत के बगैर ही चाय की पत्तियां अवैध रुप से तोड़ने और उन्हें बेचने पर बुधवार को तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया था. बोरा के अनुसार जब प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया तो आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए. सुरक्षाबलों ने स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए लाठीचार्ज किया और रबर की गोलियां चलाईं. इसी बीच, भागने की कोशिश करने पर कुछ प्रदर्शनकारी गिर गए और उन्हें मामूली चोट पहुंची. पुलिस अधिकारी के अनुसार स्थिति अब नियंत्रण में है.

चाय बागान के मालिकों ने बुधवार को प्राथिमिकी दर्ज कराई थी कि श्रमिक अवैध रूप से चाय की पत्तियां तोड़ रहे हैं और उन्हें बेच रहे हैं.

असम के बोगीढोला चाय उद्यान में 14 दिसंबर, 2017 से तालाबंदी घोषित है. पारिश्रमिक संबंधी मुद्दों पर एक प्रदर्शन के दौरान श्रमिकों पर कथित रुप से गोलियां चलाने को लेकर इस उद्यान के मालिकों को गिरफ्तार कर लिया गया था और वहां तालाबंदी घोषित कर दी गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay