एडवांस्ड सर्च

जेटली बोले, कभी नहीं कहा अर्थव्यवस्था के लिए देंगे वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज

बता दें कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) और औद्योगिक उत्पादन जैसे प्रमुख संकेतकों में हाल में तेजी से हुई गिरावट के बाद जेटली ने अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के उपायों के एक पैकेज का संकेत देते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से विचार-विमर्श के बाद उपायों की घोषणा की जाएगी.

Advertisement
aajtak.in
परमीता शर्मा / IANS वॉशिंगटन, 15 October 2017
जेटली बोले, कभी नहीं कहा अर्थव्यवस्था के लिए देंगे वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज अरुण जेटली

भारत के वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि भारत सरकार ने अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए कोई वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज घोषित करने की बात कभी नहीं की. जेटली ने यह बात अपनी अपनी अमेरिकी यात्रा का आखिरी दिन कही. उन्होंने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि मैंने कभी वित्तीय प्रोत्साहन जैसे शब्द नहीं कहे. मैंने कहा था कि हम स्थितियों पर प्रतिक्रिया करेंगे और आपकी बिरादरी ने 'प्रतिक्रिया' शब्द का अनुवाद कर उसे प्रोत्साहन कर दिया, इसलिए इसका जवाब आप लोगों को ही देना चाहिए, मुझे नहीं. उन्होंने आगे कहा कि चूंकि भारतीय मीडिया ने वित्तीय प्रोत्साहन शब्द का जिक्र किया है, लिहाजा इसके बारे में आप सब को उन्हीं से पूछना चाहिए.

अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए दिए थे पैकेज का संकेत

बता दें कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) और औद्योगिक उत्पादन जैसे प्रमुख संकेतकों में हाल में तेजी से हुई गिरावट के बाद जेटली ने अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के उपायों के एक पैकेज का संकेत देते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से विचार-विमर्श के बाद उपायों की घोषणा की जाएगी. जिसके बाद यह उम्मीद की जा रही थी कि आर्थिक विकास को रफ्तार देने के लिए सरकार द्वारा राहत पैकेज का ऐलान किया जा सकता है.

जेटली ने कहा कि हमने उपलब्ध सभी आर्थिक संकेतकों को संज्ञान में लिया है, सुधारों के एजेंडे पर यह सरकार आगे बढ़कर काम करती रही है. मैंने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों और विभिन्न सचिवों के साथ कई बार चर्चा की है. जेटली ने नई दिल्ली में केंद्रीय कैबिनेट की एक बैठक के बाद कहा था कि सरकार प्रधानमंत्री से विचार-विमर्श करने के बाद आने वाले दिनों में अतिरिक्त कदम उठाएगी. जब भी कदम उठाए जाएंगे, आपको बता दिया जाएगा.

अमेरिकी निवेशकों के बीच भारत को लेकर काफी रुचि

जेटली ने अमेरिका में बात करते हुए कहा कि अमेरिका में और अमेरिकी निवेशकों के बीच भारत को लेकर काफी रुचि है. सरकार के लोगों ने और अमेरिकी कंपनियों ने भारत में निवेश करने में गहरी रुचि दिखाई है. जेटली अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्व बैंक की वार्षिक बैठकों में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिकी कंपनियां भारत में बड़े पैमाने पर निवेश कर रही हैं.

नवंबर में अमेरिकी कॉरपोरेट्स करेंगे भारत में निवेश

जेटली ने कहा कि आपके पास ऐसे भारतीय हैं, जो अमेरिका में निवेश कर रहे हैं, आपके पास अमेरिकी कंपनियां हैं जो भारत में निवेश कर रही हैं और नवंबर में अमेरिकी कॉरपोरेट्स का एक बड़ा दस्ता भारत में निवेश करने के लिए आ रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay