एडवांस्ड सर्च

'स्मृति कौन हैं' पूछने वाली प्रियंका गांधी पर बरसे अरुण जेटली, बताया घमंडी

प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी की अमेठी में मौजूदगी पर तंज क्या किया, बीजेपी नेता बिफर गए हैं. वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने कहा कि स्मृति की मौजूदगी के बारे में अनभिज्ञता प्रकट करने से प्रियंका का अहंकार ही दिखता है.

Advertisement
aajtak.in
भाषा [Edited By: कुलदीप मिश्र]नई दिल्ली, 05 May 2014
'स्मृति कौन हैं' पूछने वाली प्रियंका गांधी पर बरसे अरुण जेटली, बताया घमंडी Arun Jaitly

प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी की अमेठी में मौजूदगी पर तंज क्या किया, बीजेपी नेता बिफर गए हैं. वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने कहा कि स्मृति की मौजूदगी के बारे में अनभिज्ञता प्रकट करने से प्रियंका का अहंकार ही दिखता है.

जेटली ने अपनी प्रचार डायरी में लिखा, 'श्रीमती वाड्रा का कल स्मृति ईरानी की मौजूदगी के बारे में अनभिज्ञता प्रकट करते हुए 'वो कौन हैं' सवाल करना, उनके अहंकार के सर्वोच्च स्तर को प्रदर्शित करता है.'

गौरतलब है कि ईरानी अमेठी से कांग्रेस उपाध्यक्ष और मौजूदा सांसद राहुल गांधी को अमेठी से चुनौती दे रही है. यहां 7 मई को वोट डाले जाने हैं. यहां से आम आदमी पार्टी की ओर से कुमार विश्वास भी चुनावी मैदान में हैं.

अपने ब्लॉग में जेटली ने 1967 के लोकसभा चुनाव का जिक्र किया जब जॉर्ज फर्नाडिस को मुंबई की राजनीति में बड़ी हैसियत रखने वाले एसके पाटिल के खिलाफ खड़ा किया गया था. जेटली ने कहा, 'फर्नांडिस के सामने मुंबई की सोच को बदलने का चुनौतीपूर्ण कार्य था. उनका शुरुआती नारा था, पाटिल को हराया जा सकता है. इसे दीवार पर लिख दिया गया और नारे इमारतों, अपार्टमेंट और झोपड़पट्टी के बाहर लिखे गए.'

उन्होंने कहा कि जब हार की आशंका के बारे में पूछा जाता था तो श्रीमती वाड्रा की तरह ही अहंकार रखने वाले पाटिल ने कहा था कि केवल ईश्वर उन्हें हरा सकता है. फर्नाडिस ने तब कहा था कि भगवान वोट नहीं डालते, केवल लोग वोट डालते हैं और वे ही पाटिल को हरा सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay