एडवांस्ड सर्च

आर्मी चीफ ने दिए सर्जिकल स्ट्राइक-2 के संकेत, कहा- घुसपैठ रोके पाक वरना कोई भी एक्शन संभव

सेना प्रमुख ने सख्त लहजे में कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और उसे बचाने के लिए हमारी सेना हर तरह के कदम उठा सकती है.

Advertisement
aajtak.in
रविकांत सिंह/ मंजीत सिंह नेगी नई दिल्ली, 27 October 2018
आर्मी चीफ ने दिए सर्जिकल स्ट्राइक-2 के संकेत, कहा- घुसपैठ रोके पाक वरना कोई भी एक्शन संभव सेना प्रमुख बिपिन रावत (PTI)

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को सख्त लहजे में पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि वह भारत में घुसपैठ रोके वरना भारत के पास हर कार्रवाई का विकल्प खुला है. रावत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को समझ लेना चाहिए कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है.

रावत ने कहा, किसी कीमत पर भारत की सेना कश्मीर का बचाव करने के लिए सक्षम है. उन्होंने कहा कि भारत में घुसपैठ कर पाकिस्तान बेकार कोशिशें कर रहा है क्योंकि उसके मंसूबे कभी कामयाब नहीं होंगे.इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर आयोजित पैदल सेना दिवस पर रावत ने कहा कि घुसपैठ से नुकसान केवल पाकिस्तान को है इसलिए वह अपनी हरकतों से बाज आए और दहशतगर्दों को समर्थन देना बंद करे.

जनरल रावत ने कहा, 'पाकिस्तान अच्छी तरह जानता है कि वह अपने मंसूबों में कामयाब नहीं होगा, वे दहशतगर्दी इसलिए करते हैं क्योंकि उन्हें मुद्दा गरमाए रखना है. वे कश्मीर में विकास का काम रोकना चाहते हैं लेकिन कश्मीर हर तरह की परिस्थिति से निपटने को तैयार है. हमलोग अलग तरह की कार्रवाई करने में भी सक्षम हैं.'

सेना प्रमुख ने कहा कि हमारा एक जवान पत्थरबाजी में मारा गया, जो बॉर्डर पर निर्माणाधीन सड़क की सुरक्षा में लगा था. इतना कुछ होने के बावजूद लोग बोल रहे हैं कि पत्थरबाजों के खिलाफ आतंकियों के ओवरग्राउंड वर्कर्स की तरह कार्रवाई न हो.

गौरतलब है कि पिछले महीने 'आजतक' से बात करते हुए उन्होंने कहा था कि जब तक पाकिस्तान में सेना और ISI सरकार के अधीन नहीं आती तब तक बॉर्डर पर हालात नहीं सुधरेंगे. इतना ही नहीं बिपिन रावत ने ये भी कहा कि जिस तरह के हालात चल रहे हैं उनको देखते हुए आतंकवादियों के खिलाफ एक और सर्जिकल स्ट्राइक की ज़रूरत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay