एडवांस्ड सर्च

भरी मीटिंग में बीजेपी सांसद मनोज तिवारी बोले- देशद्रोही हैं आमिर खान

संसद की स्थायी समिति की बैठक में जब सवाल उठा कि सरकार अतुल्य भारत के नए ब्रांड एंबेसडर को कितने पैसे देने का मन बना रही है, तो बीजेपी सांसद मनोज तिवारी भड़क गए. बोले- 'अच्छा हुआ आमिर को हटा दिया गया. वह देशद्रोही हैं.'

Advertisement
aajtak.in
विकास वशिष्ठ नई दिल्ली, 09 January 2016
भरी मीटिंग में बीजेपी सांसद मनोज तिवारी बोले- देशद्रोही हैं आमिर खान आमिर खान

बीजेपी सांसद और भोजपुरी सिंगर मनोज तिवारी ने आमिर खान को देशद्रोही हद दिया. घटना उस वक्त की है जब पर्यटन और संस्कृति पर संसद की स्थायी समिति ने पर्यटन सचिव सचिव विनोद जुत्शी से अतुल्य भारत का ब्रांड एंबेसेडर बदलने पर सफाई मांगी गई. सूत्रों के मुताबिक तिवारी ने कहा कि 'आमिर खान देशद्रोही हैं, उनके हटाना ही चाहिए था.'

तिवारी बोले- 'वो गलत बात थी'  
कहते हैं कि तिवारी के इस बयान का समिति की बैठक में ही विरोध होने लगा. शुक्रवार को हुई इस बैठक की ज्यादा बातें सामने नहीं आ पाईं. लेकिन जब अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने तिवारी से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया. बोले- 'समिति की बैठक में जो कुछ भी हुआ उस पर मैं कुछ नहीं कह सकता. क्योंकि वह सब कॉन्फिडेंशियल है.' हालांकि, तिवारी ने कहा कि मैंने आमिर खान के बारे में ऐसा कुछ भी नहीं कहा.

बाद में तिवारी ने कहा कि किसी भी अतुल्य भारत का चेहरा बने व्यक्ति को ऐसा नहीं कहना चाहिए कि भारत रहने लायक जगह नहीं है.

 

10 दिन में मांगी रिपोर्ट
इस समिति के अध्यक्ष और तृणमूल कांग्रेस सांसद केडी सिंह ने पर्यटन मंत्रालय से 10 दिन के अंदर पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है. पर्यटन मंत्रालय ने 6 जनवरी को इसकी पुष्टि कर दी थी कि अब आमिर खान अतुल्य भारत (Incredible India) कैंपेन के ब्रांड एंबेसेडर नहीं होंगे. हालांकि मंत्रालय ने आमिर से करार खत्म करने का कोई कारण नहीं बताया. खबर है कि उनकी जगह अब अमिताभ बच्चन इसके ब्रांड एंबेसडर होंगे .

ऐसे भड़क गए तिवारी
बैठक में कांग्रेस सांसद कुमारी शैलजा ने सरकार की आगे की योजना पूछी. तभी सीपीएम सांसद रिताब्रता बनर्जी ने सवाल उठाया कि क्या नया ब्रांड एंबेसडर मुफ्त में काम करेगा, क्योंकि आमिर इस काम के लिए पैसा नहीं लेते थे. सरकार नए ब्रांड एंबेसडर को कितने पैसे दने की मन बना रही है? तभी तिवारी को गुस्सा आ गया. उत्तेजित होकर बोले- अच्छा हुआ आमिर को हटा दिया गया. वह देशद्रोही हैं.

विरोध हुआ तो हो गए चुप
तिवारी की यह बात सुनकर सीपीएम सांसद बनर्जी, कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल सहित वहां मौजूद दूसरे नेताओं ने फौरन इसका विरोध किया. कहने लगे यह ठीक नहीं है. इस तरह की भाषा नेताओं की तरफ से किसी भी व्यक्ति के खिलाफ इस्तेमाल नहीं की जानी चाहिए. यह असंसदीय व्यवहार है. अपने सहयोगियों की यह तीखी प्रतिक्रिया देख तिवारी शांत हो गए.

आमिर ने कहा था- असहिष्णुता बढ़ी
आमिर ने नवंबर 2015 में कहा था कि असहिुष्णुता की घटनाओं ने उन्हें चिंतित किया है. उन्होंने बताया था कि उनकी पत्नी किरण राव ने तो एक बार यहां तक सुझाव दे दिया था कि उन्हें देश छोड़ देना चाहिए. आमिर के बयान की राजनीतिक घरानों से लेकर बॉलीवुड तक घोर निंदा हुई थी. मनोज तिवारी ने तब भी आमिर के खिलाफ मोर्चा खोला था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay