एडवांस्ड सर्च

आजतक पर लगी संसद, एक मंच पर पहुंचे 50 सांसद

ऐसा पहली बार होगा जब किसी न्यूज चैनल पर एक साथ इस बार चुने गए 50 सांसद एक मंच पर पहुंचे हैं. सभी सांसद मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के बारे में अपनी बात रख रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 30 June 2019
आजतक पर लगी संसद, एक मंच पर पहुंचे 50 सांसद आजतक पर लगेगी 'संसद'

आजतक पर संसद कार्यक्रम में 50 सांसद एक साथ आए हैं. शाम 5 बजे से इस कार्यक्रम का प्रसारण आजतक पर हो रहा है. ऐसा पहली बार होगा जब किसी न्यूज चैनल पर एक साथ इस बार चुने गए 50 सांसद एक मंच पर आए. सभी सांसद मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के बारे में अपनी बात रख रहे हैं.

इस मंच पर मौजूद गोरखपुर से भारतीय जनता पार्टी के सांसद रवि किशन ने कहा कि मोदी जी और योगी जी का कारण मुझे जीत मिली. मोदी जी ने जो 2014 में कहा थो वो सभी काम उन्होंने पूरे किए. जनता के चेहरे पर था कि उन्हें प्रधानमंत्री के रूप में सिर्फ मोदी जी चाहिए थे.

पहली बार संसद पहुंचने वाली भारतीय जनता पार्टी की सांसद गीताबेन ने कहा कि मैं संसद पहली बार पहुंची हूं, लेकिन जिला पंचायत में 1995 से हूं. छोटा उदयपुर से हूं. प्रधानमंत्री मोदी और राज्य सरकार की योजनाओं का मुझे बहुत लाभ मिला.

कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के गुजरात के आणंद से सांसद मितेश पटेल ने कहा कि गुजरात के सीएम की योजनाएं गांव-गांव तक पहुंची हैं. अब यह कांग्रेस का गढ़ नहीं रहा. बीजेपी कार्यकर्ताओं और मोदी जी की जीत है.

केंद्र में दोबारा मोदी सरकार बनने के बाद आज पहली बार मन की बात की. आज प्रसारित हुए मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल संकट की समस्या से निपटने पर जोर दिया. इसके साथ प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के लोगों पर मुझे विश्वास था वे मुझे एक बार फिर लाएंगे. इन सब पर बोलने के साथ ही मोदी ने देश के विशाल हिस्सों में बड़े पैमाने पर सूखे से निपटने के लिए जल संरक्षण पर जोर दिया.

2019 में हुए लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को 303 सीटों पर जीत मिली थी. वहीं कांग्रेस ने 52 सीटों पर जीत दर्ज की थी. पिछली बार के मुकाबले इस बार बीजेपी को 21 सीटें ज्यादा मिली हैं. 2014 में बीजेपी को 282 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि 2019 के चुनाव में बीजेपी ने 303 सीटों पर जीत दर्ज की. वहीं 2014 में कांग्रेस के पास 44 सांसद थे और 2019 में कांग्रेस के सांसदों की गिनती 52 हो गई.

इसके अलावा इस साल हरियाणा में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं. पंजाब में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सहयोगी शिरोमणि अकाली दल ने हरियाणा में विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है. पंजाब की तरह यहां भी वह बीजेपी के साथ मिलकर चुनावी किस्मत आजमाना चाहती है. अकाली दल ने हरियाणा में विधानसभा सीटों की डिमांड करके बीजेपी की टेंशन बढ़ा दी है. ऐसे में अहम सवाल है कि बीजेपी जिस राज्य में पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में है, क्या वहां अकाली दल के लिए सीटें छोड़ेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay